झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान (ASHA योजना) 2022 – ऑनलाइन आवेदन | एप्लीकेशन फॉर्म

By | March 27, 2022

झारखण्ड के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन ने महिलाओं को आत्मनिर्भर, सशक्त व आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिए झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान 2022 की शुरुआत की है। इस अभियान के अंतर्गत महिलाओं को स्वरोजगार और रोजगार से जोड़ा जाएगा। झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान क्या है, इसके उद्देश्य, लाभ, व पात्रता क्या है? आदि सवालों के जवाब जानने के लिए हमारे इस लेख पर अंत तक बने रहें।

झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान (ASHA योजना)

झारखण्ड राज्य सरकार ने ग्रामीण महिलाओं को आर्थिक रूप से सशक्तिकरण के लिए आजीविका हुनर संवर्धन अभियान योजना शुरू कर दी है। इस अभियान के माध्यम से झारखण्ड की महिलाओं को कृषि आधारित आजीविका, पशुपालन, वनोपज संग्रहण, उद्यमिता समेत स्थानीय संसाधनों से जुड़े स्वरोजगार के अवसर प्रदान किये जायेगें।

इसके साथ ही फूलो झानो आशीर्वाद अभियान (Phulo Jhano Ashirwad Abhiyan) का शुभारम्भ और पलाश ब्रांड (Palash Brand) का अनावरण मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन द्वारा 29 सितम्बर को किया गया था। Jharkhand Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan के माध्यम से राज्य की तक़रीबन 17 लाख ग्रामीण महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ा जाएगा।

Jharkhand Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan

झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान की शुरुआत क्यों की गयी?

झारखण्ड राज्य में ऐसी कई गरीब महिलाएं है, जिनकी आर्थिक स्थिति काफी दयनीय है, जिसके कारण वह अपने घर का खर्च चलाने तथा परिवार का भरण-पोषण करने के लिए सड़कों पर हड़िया दारु बेचती है। इन्ही सभी बातो को ध्यान में रखते हुए मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन ने कहा की महिलाएं यह काम मज़बूरी में करती है। अब कोई भी महिला सड़कों पर हड़िया दारु बेचती हुई नज़र नहीं आएगी, क्योंकि इन महिलाओं को झारखण्ड सरकार आजीविका संवर्धन हुनर अभियान (ASHA) से जोड़ेगी। जिससे ग्रामीण महिलाओं को रोजगार और स्वरोजगार के अवसर प्रदान किये जाएंगे।

Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan Jharkhand Highlights

योजना का नाम झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान
किसके द्वारा शुरू की गयी झारखंड सरकार
लाभार्थी झारखंड की महिलाएं
उद्देश्य महिलाओं को रोजगार के अवसर प्रदान करना।
आधिकारिक वेबसाइट जल्द लॉन्च की जाएगी।
साल 2020

आजीविका संवर्धन हुनर अभियान झारखंड बजट

Jharkhand Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan का संचालन ग्रामीण विकास विभाग द्वारा किया जाएगा। इस अभियान पर झारखण्ड सरकार (Jharkhand Government) ने 600 करोड़ रूपए का बजट निर्धारित किया है। एवं मुख्यमंत्री ने स्वयं दुमका के मंडलों के बीच 150 करोड़ रूपए बांटे हैं।

भू-नक्शा झारखण्ड: अपना खाताJharkhand Ration Card
झारखण्ड किसान कर्ज माफ़ी योजना 2020Jharkhand Jharsewa Portal

पलाश ब्रांड का भूमंडलीकरण

पलाश ब्रांड के माध्यम से राज्य सरकार राज्य की महिलाओं को रोजगार के साधन उपलब्ध कराएगी। इस ब्रांड को नयी पहचान देने के लिए सरकार ने प्रदेश की महिलाओं को रोजगार के लिए प्रोत्साहित किया है। महिलाओं के माध्यम से ब्रांड को एक नयी पहचान दी जायेगी तथा पलाश ब्रांड को टाटा एवं अमूल कम्पनी की तरह स्वयं सहायता समूहों की मदद से आगे ले जाया जाएगा। स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के द्वारा पहले से ही लिज्जत पापड़ अचार का उत्पादन किया जाता है।

झारखंड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान का उद्देश्य

इस अभियान का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों की महिलाएं जो सड़कों पर हड़िया दारु बेचती है, उन्हें रोजगार व स्वरोजगार से जोड़ा जाएगा। ASHA Yojana का मुख्य उद्देश्य महिलाओं को आत्मनिर्भर, सशक्त व उनकी आर्थिक स्थिति को मजबूत करना है, ताकि उन्हें हड़िया दारु बेचने की आवश्यकता न पड़े।

झारखण्ड मुख्यमंत्री विशेष सहायता योजना 2022मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना झारखण्ड
प्रधानमंत्री किसान ट्रेक्टर योजनाNarega Job Card List 2022

आजीविका संवर्धन हुनर योजना के लाभ एवं विशेषताएं

  • इस योजना के माध्यम से झारखण्ड राज्य की महिलायें जो हड़िया दारु बेचती है, उन्हें रोजगार एवं स्वरोजगार के अवसर प्रदान किये जाएंगे।
  • ASHA Yojana के माध्यम से महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाना है।
  • Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan के माध्यम से महिलाओं को कृषि आधारित आजीविका, पशुपालन, वनोपज, संग्रहण, उद्यमिता समेत स्थानीय संसाधनों से जुड़े स्वरोजगार के अवसर प्रदान किये जाएंगे।
  • इस अभियान के महिलाओं को रोजगार से जोड़ा जाएगा, जिससे उन्हें हड़िया दारु बेचने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।
  • आजीविका संवर्धन हुनर योजना के लिए सरकार ने 600 करोड़ रूपए का बजट निर्धारित किया है।
  • इस योजना का संचालन ग्रामीण विकास विभाग द्वारा किया जायेगा।
  • आजीविका संवर्धन हुनर अभियान (ASHA), पलाश ब्रांड, एवं फूलो झानो आशीर्वाद अभियान के तहत राज्य के तक़रीबन 17 परिवारों को जोड़ा जायेगा।

Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan की पात्रता तथा आवश्यक दस्तावेज

पात्रता

  • आवेदक झारखण्ड राज्य का स्थाई निवासी होना चाहिए।

दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान 2022 में आवेदन कैसे करें ?

इस योजना में आवेदन करने के अभी आपको थोड़ा इंतज़ार करना होगा। अभी इस योजना की घोषणा की गयी है, और आवेदन के सम्बन्ध में कोई दिशानिर्देश जारी नहीं किये गए है। जैसे ही सरकार द्वारा आवेदन के सम्बन्ध में कोई आधिकारिक दिशानिर्देश जारी किये जाएंगे, हम आपको इस लेख के माध्यम से सूचित कर देंगे। इसलिए आजीविका संवर्धन हुनर अभियान योजना से जुड़े नवीनतम अपडेट के लिए हमारी वेबसाइट को बुकमार्क अवश्य करें।

Jharkhand Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan FAQs

झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर अभियान किसके द्वारा शुरू की गयी?

यह झारखण्ड सरकार द्वारा शुरू की गयी है।

झारखण्ड आजीविका संवर्धन हुनर योजना क्या है?

इस योजना की शुरुआत महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने के लिए शुरू किया गया है। इस योजना के अंतर्गत महिलाओं को कृषि आधारित आजीविका, पशुपालन, वनोपज संग्रहण, एवं उद्यमिता सहित कई स्थानीय संसाधनों से जुड़े स्वरोजगार के अवसर प्रदान किये जाएंगे।

Jharkhand Aajivika Samvardhan Hunar Abhiyan की शुरुआत कब की गयी?

इस अभियान की शुरुआत 29 सितम्बर 2020 को की गयी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.