Bhavantar Bhugtan Yojana 2020 – भावांतर भरपाई योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

By | May 25, 2020

Bhavantar Bhugtan Yojana: जैसा कि सभी जानते हैं कि भारत एक कृषि प्रधान देश है। यहां अधिकतर जनसंख्या कृषि के ऊपर निर्भर रहती है, लेकिन इसके बाद भी किसानों की हालत बहुत ही ख़राब है, क्योंकि अभी भी भारत देश में अधिकांश किसान आत्महत्या कर लेते हैं, क्योंकि उनके पास उचित साधन है, और कर्ज में डूबे हुए होने के कारण, वह ऐसा कर लेते हैं। इसलिए सरकार ने देश की किसानों की आर्थिक स्थिति को सुधार करने के लिए एक नई योजना लागू की है। आइये जानते है, कि किसानो के लिए क्या योजना लागु है।

भावांतर भरपाई योजना क्या है? (Bhavantar Bhugtan Yojana)

बता दें इस योजना की शुरुआत हरियाणा राज्य में वर्ष 2018 में शुरू की गई थी, जोकि हरियाणा राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर खट्टर के द्वारा लागू की गई थी। इस योजना का नाम है भावांतर भरपाई योजना। Bhavantar Bhugtan Yojana के माध्यम से सरकार किसानों को उनकी फसलों से हुए नुकसान की भरपाई सरकार द्वारा की जाएगी। किसान अपनी फसल को समय बेचते समय जो पैसा मिलता है, अगर वह पैसा फसलों को तैयार करने में जो खर्च होता है, उससे यदि कम पैसा होता है, तो उसकी भरपाई सरकार द्वारा की जाएगी। आइए जानते हैं, भावांतर भरपाई योजना की मुख्य बातें क्या है?

Bhavantar Bhugtan Yojana

भावांतर भरपाई योजना की मुख्य विशेषताएं:-

हरियाणा सरकार द्वारा सभी किसानों को इस योजना के माध्यम से हर क्षेत्र में सशक्त बनाया है। इसके अंतर्गत ना केवल सब्जियों की कीमत को तय किया जाएगा, अपितु किसान को अन्य क्षेत्र में सशक्त बनाने का प्रयास भी किया जाएगा।

इस योजना (Bhavantar Bhugtan Yojana) के अंतर्गत हर वर्ग के किसानों को सम्मिलित किया जाएगा, इसके अंतर्गत किसान कोई भी पारंपरिक और विदेशी फसल उगाता है तब भी इस योजना का लाभ ले सकता है। इस योजना के माध्यम से किसानों की कमाई का जरिया बढ़ेगा, जिससे फसल को बाजार के मूल्य से अधिक दामों पर भी भेज सकता है।

टमाटर, गोभी, प्याज व आलू की फसल का पंजीकरण

इस योजना के माध्यम से चार मुख्य सब्जियों का चुनाव किया जाएगा, जिसकी बेसिक प्राइस सरकार द्वारा तुरंत तय की जाएगी, जिसमें आलू, टमाटर, प्याज, और गोभी मुख्य सब्जियां शामिल है। बता दे अब इस योजना में अब गाजर, मटर, भिंडी, शिमला मिर्च, और बैगन को भी जोड़ दिया गया है।

भावांतर भरपाई योजना संरक्षित मूल्य एवं निर्धारित उत्पादन।

क्रं सख्या फसल का नाम संरक्षित मूल्य(रुपये प्रति क्विंटल ) निर्धारित उत्पादन(क्विंटल प्रति एकड़)
1. आलू 500 120
2. प्याज 650 100
3. टमाटर 500 140
4. फूलगोभी 750 100
5. किन्नू 1100 104
6. गाजर 700 100
7. मटर 1100 50

बता दें इस योजना के माध्यम से किसान अपनी फसल को किसी अन्य बाजारों में भी बेच सकता है. ताकि वह अपनी फसल की अच्छी कीमत प्राप्त कर सकें। इस योजना का मुख्य उद्देश्य यही है कि यदि किसी किसान को अपनी फसल से नुकसान हुआ हो, या उसकी फसल की लागत निकलने में असमर्थ है तो उसकी फसल के नुकसान भरपाई सरकार द्वारा की जाएगी।

प्रोत्साहन नीचे तालिका में दर्शायी बिक्री अवधि के दौरान मान्य।

क्रं सख्या फसल का नाम पंजीकरण अवधि सत्यापन अवधि सत्यापन इत्यादि के विरुद्ध अपील अवधि बिक्री अवधि
आरंभ तिथि समापन तिथि तक तक दौरान
1. आलू 15 सितंबर 31 अक्तूबर 30 नवम्बर 15 दिसम्बर 1 दिसम्बर – 31 मार्च
2. प्याज 15 दिसम्बर 15 फरवरी 15 मार्च 25 मार्च 1 अप्रैल – 31 मई
3. टमाटर 15 दिसम्बर 15 फरवरी 15 मार्च 25 मार्च 1 अप्रैल- 15 जून
4. फूलगोभी 15 सितंबर 31 अक्तूबर 30 नवम्बर 15 दिसम्बर 1 दिसम्बर – 31 मार्च
5. किन्नू 1 सितंबर 30 नवम्बर 15 दिसम्बर 31 दिसम्बर 1 दिसम्बर – 28 फरवरी
6. गाजर 1 अक्तूबर 30 नवम्बर 15 दिसम्बर 31 दिसम्बर 1 दिसम्बर – 28 फरवरी
7. मटर 1 अक्तूबर 30 नवम्बर 15 दिसम्बर 31 दिसम्बर 1 दिसम्बर – 28 फरवरी

Bhavantar Bharpai Yojana में ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?

यदि आप इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं, तो आपको ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होगा। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करने के लिए आपको नीचे दिए गए स्टेप को फॉलो करना होगा।

  • सबसे पहले आपको हरियाणा सरकार की भावांतर भरपाई हरियाणा पोर्टल की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। जिसका लिंक https://ekharid.in/ यह है।
  • आपके सामने होम पेज (home page) ओपन होगा।
  • अब आपको होम पेज के राइट साइड में एक विकल्प दिखाई देगा, जिसमें लिखा हुआ
  • “किसान पंजीयन करें” (kisan panjikaran) इस विकल्प पर आपको क्लिक करना होगा।
  • जैसे आप इस पर क्लिक करते हैं, तो आपके सामने रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुल जाएगा।
  • फॉर्म में उपस्थित सभी जानकारी को सही सही भरना है।
  • सभी जानकारी सही-सही भरने के बाद, आपको सबमिट बटन या सेव बटन पर क्लिक करना होगा।
  • सबमिट बटन क्लिक करने के बाद, आपका फॉर्म कंप्लीट हो जाएगा।
  • इसका प्रिंट आउट प्राप्त कर लें, ताकि आपको भविष्य में काम आ सके।
    इस तरह आप ऑनलाइन भावांतर भरपाई योजना में आवेदन कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *