बिहार राज्य फसल सहायता योजना 2020: फसलों के नष्ट होने पर किसानों को मिलेंगे 7500 से 10000 रूपए प्रति हेक्टेयर, ऐसे करें आवेदन

By | November 4, 2020

बिहार फसल सहायता योजना: बिहार सरकार द्वारा प्राकृतिक आपदाओं के कारण होने वाले फसलों के नुक्सान की भरपाई करने के लिए, किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करने के लिए बिहार राज्य फसल सहायता योजना की शुरुआत की है. इस योजना अंतर्गत किसानों की फसलों की वास्तविक उपज दर में 20% तक का नुकसान होने पर प्रति हेक्टेयर की दर से 7500 रूपए एवं 20% से अधिक फसलों का नुकसान होने पर प्रति हेक्टेयर की दर से 10000 रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है.

Bihar Fasal Bima Yojana | बिहार राज्य फसल सहायता योजना

इस योजना को लागू करने का प्रमुख उद्देश्य किसानों की प्राकृतिक आपदाओं के कारण होने वाले नुकसान की भरपाई की जा सके एवं उन्हें खेती के लिए प्रोत्साहित किया जा सके. यदि किसी किसान की फसल प्राकृतिक आपदाओं जैसे बाढ़, सूखा, चक्रवात, या अन्य किसी कारणों से नष्ट होती है, तो Bihar Fasal Bima Yojana 2020 के तहत दी जाने वाली वित्तीय सहायता सीधे लाभार्थी किसान के बैंक खाते में जमा कर दी जायेगी.

इसलिए किसान के पास बैंक खाता होना चाहिए एवं खाता आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए. दोस्तों, इस लेख में हम Fasal Bima Yojana 2020 Bihar से सम्बंधित सम्पूर्ण जानकारी लेकर आये हैं. इसलिए पूरी जानकारी प्राप्त करने के लिए लेख को पूरा जरूर पढ़ें.

यह भी पढ़ें: आपका बैंक खाता आधार कार्ड से लिंक है या नहीं कैसे जाने

Bihar Rajya Fasal Sahayta Yojana Overview

योजना का नाम बिहार राज्य फसल सहायता योजना
किसके द्वारा शुरू की गयी मुख्यमंत्री श्री नितीश कुमार द्वारा
उद्देश्यप्राकृतिक आपदाओं के कारण किसानों के हुए नुकसान की भरपाई करना
लाभार्थी बिहार राज्य के किसान
वित्तीय सहायता 20% तक नुकसान होने पर 7500 रूपए,
20% से अधिक नुकसान होने पर 10000 रूपए
ऑफिसियल वेबसाइट http://rcdonline.bih.nic.in/

Bihar Rajya Fasal Sahayata Yojana 2020 को लागू करने का उद्देश्य

इस योजना को लागू करने का मुख्य उद्देश्य प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसलों के हुए नुकसान की भरपाई करना तथा किसानों को पुनः खेती के लिए प्रोत्साहित करना है. ताकि किसान आत्मनिर्भर एवं सशक्त बन सके एवं उन्हें आर्थिक संकटों से न जूझना पड़े.

यह भी देखें: बिहार भूलेख नक्शा खतौनी नक़ल ऑनलाइन देखें

Bihar Fasal Bima Scheme के लाभ

– इस योजना के अंतर्गत जिन किसानों की फसल प्राकृतिक आपदाओं के कारण नष्ट हुई है, उन्हें वित्तीय सहायता प्रदान की जायेगी.
– जिन किसानों की फसलों की वास्तविक उपज दर में 20% का नुकसान हुआ है, उन्हें प्रति हेक्टेयर 7500 रूपए की धनराशि प्रदान की जायेगी.
– जिन किसानों की फसलों की वास्तविक उपज दर में 20% से अधिक नुकसान हुआ है, उन्हें प्रति हेक्टेयर 10000 रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी.
– बिहार राज्य फसल सहायता योजना से किसान आत्मनिर्भर बनेंगे, तथा दोबारा खेती करने के लिए प्रोत्साहित होंगे.

योजना का लाभ लेने हेतु आवश्यक दस्तावेज (पात्रता)

– आवेदक बिहार राज्य का मूल निवासी होना चाहिए।
– आवेदक की फसल प्राकृतिक आपदाओं के कारण नष्ट होनी चाहिए।
– आधार कार्ड
– निवास प्रमाण-पत्र
– बैंक पासबुक की फोटो कॉपी
– जमीन से सम्बंधित कागज़ात
– हाल ही में खिंचवाई हुई पासपोर्ट साइज फोटो
– मोबाइल नंबर

(ऑनलाइन) बिहार जॉब कार्ड लिस्ट कैसे देखें 

बिहार राज्य फसल सहायता योजना 2020 के लिए आवेदन कैसे करे?

इच्छुक उम्मीदवार जो इस योजना में आवेदन करना चाहते हैं, वह निचे दिए गए तरीके को फॉलो करें:-

– सर्वप्रथम उम्मीदवार को प्रत्यक्ष लाभ अंतरण, कृषि विभाग, बिहार सरकार की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर पंजीकरण करना होगा.

यह भी देखें: बिहार किसान ऑनलाइन पंजीकरण कैसे करें – Bihar Farmer Online Registration @ DBT Agriculture Portal

– पंजीकरण करने के बाद आपको बिहार राज्य फसल सहायता योजना 2020 की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना होगा.

– ऑफिसियल वेबसाइट खुलने के बाद आपको होम पेज पर “फसल सहायता योजना एवं अधिप्राप्ति” सेक्शन में से निचे दिए गए लिंक में से किसी भी एक लिंक पर क्लिक करें.
– ऑप्शन पर क्लिक करने के बाद लॉगिन फॉर्म खुल जाएगा.

– यहाँ आपको मोबाइल नंबर, पासवर्ड, एवं कैप्चा कोड डालकर लॉगिन के बटन पर क्लिक करना है.
– लॉगिन होने के बाद आप बिहार राज्य फसल सहायता योजना का फॉर्म भर वित्तीय सहायता प्राप्त कर सकते हैं.

बिहार राशन कार्ड सूची 2020 | Download Bihar APL/BPL Ration Card List 2020 @epds.bihar.gov.in

PM Jan Dhan Yojana New Update: मोदी सरकार दोबारा भेजेगी जन धन खातों में 1500 रूपए !

(पंजीकरण) बिहार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना 2020: ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन, एप्लीकेशन स्टेटस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *