दिल्‍ली के किसानों के लिए सीएम केजरीवाल का बड़ा ऐलान- बारिश में जिनकी फसल बर्बाद हुई उनको 50000 रूपए मुआवजा

By | September 2, 2022

दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविन्द केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने किसानों को राहत पहुँचाते हुए किसानों के पक्ष में एक बड़ी घोषणा की है। मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने घोषणा की है जी किसानों की फसल बे-मौसम बारिश से खराब हुई है, उन्हें सरकार प्रति हेक्टेयर 50000/- रूपए का मुआवजा देगी।

दोस्तों जैसा की आप सभी जानते हैं की कई लोगों की आय खेती-किसानी पर निर्भर करती है, भारत में ऐसे कई किसान है जो सिर्फ कृषि सम्बंधित कार्यों पर आधारित है, एवं जिनकी आय का मुख्य स्त्रोत खेती-किसानी है। किसानों द्वारा बोई गयी फसलों पर किसानों का काफी पैसा लगा होता है। ऐसे में यदि किसानों की फसलें किसी प्राकृतिक आपदाओं या बे-मौसम बरसात के कारण नष्ट हो जाती है तो किसानों को काफी आर्थिक संकटों का सामना करना पड़ता है।

सीएम अरविन्द केजरीवाल ने किसानों को 50000 रूपए देनें का किया ऐलान

cm kejriwal give compensation to farmer

पुरे देश पिछले दिनों बे-मौसम बरसात के कारण कई किसानों की फसलें ख़राब हो गयी है। यूपी से लेकर दिल्ली तक एवं देश के अन्य हिस्सों में धान, आलू, सरसों आदि की फसलें ख़राब हो गयी है। इस स्थिति से निपटने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविन्द केजरीवाल द्वारा किसानों के फसलों के नष्ट होने पर उन्हें आर्थिक प्रोत्साहन देने का ऐलान किया है।

अरविन्द केजरीवाल ट्विटर हैंडल अकाउंट से प्राप्त जानकारी के अनुसार अरविन्द केजरीवाल ने कहा की किसानों की फैलने बे-मौसम बारिश के कारण खराब हो गयी है, जिससे किसान दुखी है। अरविन्द केजरीवाल ने आगे कहा की हमेशा की तरह सरकार आपके साथ है। बर्बाद हुई फसलों के लिए दिल्ली सरकार प्रति हेक्टेयर 50000/- रूपए मुआवजा देगी।

किसानों के बैंक खातों में पहुंचेगा पैसा

सीएम केजरीवाल ने कहा जब किसी वजह से किसानों की फसलें बर्बाद हुईं, “आप” की सरकार ने आगे बढ़कर किसानों का साथ दिया। हमने हर बार किसानों को 50 हज़ार रूपए प्रति हेक्टेयर के हिसाब से किसान भाइयों को मुआवजा दिया। अन्य राज्य के मुताबिक़ दिल्ली सरकार फसल बर्बाद होने पर किसानों को ज्यादा मुआवजा देती है। मुआवजा देने की घोषणा के बाद हमारी पूरी कोशिश रहती है की एक से तीन महीने के भीतर किसान भाइयों के खातों में पैसा चला जाए।

इस बार भी हमने उन किसानों को 50000/- रूपए मुआवजा देने की घोषणा की है, जिनकी फसल बे-मौसम बारिश के कारण ख़राब हो गयी है। जहाँ-जहाँ फैसले बर्बाद हुई है उन क्षेत्रों की डीएम एवं एसडीएम पैमाइश कर रहें है। मुझे उम्मीद है की दो हफ़्तों के भीतर हम सारी पैमाइश व सुरवीन पूरी कर लेंगे और उसके बाद जल्द से जल्द एक से तीन महीने के भीतर किसान भाइयों का मुआवजा उनके खाते में पहुँच जाएगा।

यह अभी पढ़ें – Farmers Apply Subsidy Agricultural Equipment – कृषि यंत्रों पर सब्सिडी आवेदन

Krishi Upaj Rahan Rin Yojana 2022: राजस्थान कृषि उपज रहन ऋण योजना किसान रजिस्ट्रेशन

राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना 2022 ऑनलाइन पंजीकरण

Leave a Reply

Your email address will not be published.