Join Our Telegram Group Join Now
Join Our WhatsApp Group Join Now

आपकी बेटियों के लिए सरकार की 10 योजनाएं, जानिये इन योजनाओं के बारे में, कैसे मिलेगा इनका लाभ

government schemes for girl

केंद्र सरकार और राज्य सरकार मिलकर महिलाओं के सम्मान, महिलाओं के शैक्षणिक स्तर को सुधारने, और उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए समय समय पर कई योजनाओं का संचालन किया जाता है. आज हम बेटियों के लिए, राज्य एवं केंद्र सरकार द्वारा संचालित की जा रही ऐसी ही 10 योजनाओं के बारे में बताने जा रहे है. इन योजनाओं के अंतर्गत आवेदन कर आप भी इन योजनाओं का लाभ ले सकते है.

Show Contents

आपकी बेटियों के लिए सरकार की 10 योजनाएं जानिये इन योजनाओं के बारे में, कैसे मिलेगा इनका लाभ

1. सुकन्या समृद्धि योजना (SSY)

सुकन्या समृद्धि योजना: इस योजना का शुभारम्भ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा किया गया. इस योजना के तहत 10 वर्ष तक की बालिकाओं के खाते खोले जा सकते है. खाताधारक को एक पासबुक दी जायेगी जिसमे बालिका की जन्मतिथि, खाता खोलने की तिथि, खाताधारक का नाम, तथा जमा की गयी राशि का विवरण होगा.

इस योजना के तहत न्यूनतम 250 रूपए से खाता पोस्ट ऑफिस या बैंक में खोला जाएगा तथा अधिकतम 14 वर्ष तक खाता चलाया जाएगा. बालिका की उम्र 21 वर्ष हो जाने पर ही खाता परिपक्व होगा. यदि लड़की की शादी 21 वर्ष से पहले तथा 18 वर्ष की उम्र के बाद होती है तो खाता चलाने की अनुमति नहीं होगी। परिपक्व खाते में जमा राशि तथा ब्याज खाताधारक को दे दी जाएगी.

Check Full Information: Sukanya Samridhi Yojana

2. बालड़ी रक्षक योजना – पंजाब

बालड़ी रक्षक योजना: यह योजना पंजाब सरकार द्वारा संचालित की जा रही है. इस योजना का लाभ सिर्फ वो ही दंपत्ति ले सकते है जिन्होंने 1 या 2 बच्चियों के पैदा होने के बाद नसबंदी करवा ली हो. बालड़ी रक्षक योजना के तहत प्रत्येक बच्ची के बैंक खाते में पंजाब सरकार द्वारा 18 वर्ष की उम्र तक 500 रूपए जमा करवाती है. इस प्रकार प्रत्येक बच्ची के खाते में प्रत्येक वर्ष 6000 रूपए जमा हो जायेगे.

3. भाग्यश्री योजना – महाराष्ट्र

भाग्यश्री योजना: यह योजना महाराष्ट्र सरकार द्वारा संचालित की गयी है जो बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं योजना से जोड़ा गया है. इस योजना के तहत वह परिवार आएंगे जो गरीबी रेखा के निचे अपना जीवन यापन कर रहे है. इस योजना के तहत हर गरीब परिवार में जन्मी बालिका के खाते में सरकार द्वारा 21,200 रूपए जमा कराये जायेगे तथा लड़की की 18 वर्ष की उम्र होने के पश्चात 1 लाख रूपए दिए जाएंगे.

4. गर्ल चाइल्ड प्रोटेक्शन स्कीम आँध्रप्रदेश

गर्ल चाइल्ड प्रोटेक्शन स्कीम: बालिकाओं के आर्थिक और सामाजिक विकास के लिए आंध्रप्रदेश द्वारा इस योजना का संचालन किया जा रहा है. यह योजना अनाथ और अक्षम बच्चियों के लिए जारी की गयी है. इस बालिका योजना में अलग-अलग नियमों व शर्तों को पूरा करने पर 30000 रूपए से 100000 रूपए तक की सहायता राशि दी जा सकती है.

5. लाड़ली बेटी जम्मू कश्मीर योजना

लाड़ली बेटी: यह योजना जम्मू कश्मीर सरकार द्वारा लांच की गयी है. इस योजना के तहत, राज्य सरकार बालिका के जन्म पर प्रतिमाह 1000/- रूपए जमा करवाएगी। यह राशि 14 वर्ष तक जमा कराई जायेगी. बालिका की उम्र 21 वर्ष पूर्ण होने पर उसे 6.5 लाख रूपए का एकमुश्त भुगतान किया जाएगा. जिन व्यक्तियों की सालाना वार्षिक आय 75000/- रूपए से कम है वही व्यक्ति इस योजना का लाभ ले पाएंगे.

6. बेटी है अनमोल हिमाचल प्रदेश योजना

बेटी है अनमोल योजना: हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा बालिकाओं के लिए समय-समय कई कई योजनाएं संचालित की गयी है उनमे से एक योजना है बेटी है अनमोल. इस योजना के अंतर्गत सरकार गरीब या बीपीएल श्रेणी के परिवारों के घर जन्म लेने वाली बालिकाओं के खाते में 10000 रूपए जमा करवाएगी, तथा 12 वीं तक पढाई करने के लिए 300 व 1200 रूपए स्कालरशिप के रूप में दिए जाएंगे. जिन बालिकाओं के पिता शारीरिक रूप से अक्षम है उन बालिकाओं की शादी के लिए 25000 रूपए की आर्थिक मदद दी जायेगी.

योजना के बारे में विस्तारपूर्वक जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

7. कन्या विवाह योजना

कन्या विवाह योजना: इस योजना को केंद्र सरकार द्वारा लांच किया गया है, यह योजना हर राज्य में संचालित की जा रही है. इस योजना के अंतर्गत, अलग-अलग राज्यों में प्रदान की जाने वाली राशि भी अलग अलग है. उदारणार्थ, छत्तीसगढ़ में बीपीएल परिवार के युवक-युवतियों को विवाह के लिए 15000 रूपए दिए जाते है और साथ ही 1000 रूपए का चेक, और गृहस्थी का सामान भी दिया जाता है. इसी प्रकार मध्य प्रदेश एवं उत्तर प्रदेश सरकार कन्या विवाह योजना के अंतर्गत बेटियों की शादी के लिए 51000/- रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान करती है. इसी प्रकार बिहार सरकार द्वारा इस स्कीम के अंतर्गत बेटी की शादी के लिए 50000/- रु की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है. इसी तरह अन्य राज्य सरकारों द्वारा भी बेटी की शादी के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है.

8. लाड़ली लक्ष्मी योजना मध्यप्रदेश

लाड़ली लक्ष्मी योजना: इस योजना का शुभारम्भ मध्यप्रदेश सरकार द्वारा किया गया. इस योजना में रजिस्ट्रेशन करवाने पर आपको 1 लाख रूपए का प्रमाण पत्र ऑनलाइन जनरेट कर डिजिटल हस्ताक्षर के साथ जारी किया जाएगा. इस योजना के तहत बालिका की पढाई के लिए समय-समय पर ई-पेमेंट द्वारा भुगतान आपके बैंक खाते में किया जाएगा.

इस योजना के तहत बालिका का कक्षा 6 में प्रवेश लेने पर 2000 रूपए, 9 वीं में प्रवेश लेने पर 4000 रूपए तथा 11 वीं, 12 वीं, के दौरान 200 रूपए का भुगतान किया जाएगा. बालिका की उम्र 21 वर्ष पूरी होने पर इस योजना की राशि का पूरा भुगतान किया जाएगा यह भुगतान मध्यप्रदेश लाड़ली लक्ष्मी योजना निधि द्वारा किया जाएगा. बशर्ते बालिका का विवाह 18 वर्ष की उम्र के बाद हो.

Also Check: Ladli Laxmi Yojana

9. धन लक्ष्मी योजना

धन लक्ष्मी योजना: यह योजना केंद्र सरकार द्वारा वर्ष 2008 में लांच की गयी थी. इस योजना का मुख्य उद्देश्य कन्या भ्रूण हत्या रोकना तथा बालिका शिक्षा स्तर बढ़ाना है. इस योजना के अंतर्गत बालिका जा जन्म पंजीकरण, टीकाकरण, शिक्षा तथा 18 वर्ष की उम्र के पश्चात विवाह किये जाने पर 1 लाख रूपए की बीमा राशि दिए जाने का प्रावधान है.

पूरी जानकारी पढ़ें: प्रधानमंत्री धन लक्ष्मी योजना

10. मुख्यमंत्री शुभलक्ष्मी योजना – राजस्थान

मुख्यमंत्री शुभलक्ष्मी योजना: यह योजना राजस्थान सरकार द्वारा मातृ मृत्यु दर कम करने तथा बालिका जन्म को प्रोत्साहित करने के लिए इस योजना की शुरुआत की गयी है. मुख्यमंत्री धनलक्ष्मी योजना के तहत बालिका के जन्म लेने पर 2100 रूपए का चेक दिया जाएगा, और उसके बाद 1 वर्ष पूर्ण होने तथा सभी टीके लगवाने के बाद फिर से 2100 रूपए का चेक दिया जाएगा. इसके बाद 5 वर्ष की उम्र पूर्ण होने तथा स्कूल में प्रवेश होने की स्थिति में फिर से बालिका की मां को 3100 रूपए का चेक दिया जाएगा इस प्रकार इस मुख्यमंत्री धनलक्ष्मी योजना के तहत बालिका की माँ को 7300 रूपए दिए जाएंगे.

11. राजस्थान मुख्यमंत्री राजश्री योजना

बालिकाओं के प्रति समाज में सकारात्मक सोच को विकसित करने, कन्या भ्रूण हत्या एवं बाल विवाह जैसे अपराधों पर पूरी तरह से अंकुश लगाने के लिए राजस्थान सरकार द्वारा मुख्यमंत्री राजश्री योजना शुरू की गयी. इस स्कीम के अंतर्गत 01 जून या उसके बाद जन्मी बालिकाएं पात्र होंगी. Rajshri Yojana के अंतर्गत बेटी के जन्म से लेकर उसकी शिक्षा तक कुल 50000/- रूपए की आर्थिक सहायता दी जाएगी. यह सहायता राशि निम्नप्रकार से देय होगी.

  • जन्म के समय – 2500 रूपए
  • 1 वर्ष के टीकाकरण पर – 2500 रूपए
  • पहली कक्षा में प्रवेश पर 4000 रूपए
  • कक्षा 6 में प्रवेश पर – 5000 रूपए
  • कक्षा 10 में प्रवेश पर – 11000
  • कक्षा 12वीं पास करने पर – 25000 रूपए राशि प्रदान की जाती है.

12. कन्या उत्थान योजना बिहार

बालिकाओं के शेक्षणिक स्तर में सुधार करने के उद्देश्य से बिहार सरकार द्वारा मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना संचालित की जा रही है. इस स्कीम के अंतर्गत बालिकाओं को स्नातक डिग्री प्राप्त करने तक कुल 50000/- रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है. कन्या उत्थान योजना का लाभ एक परिवार की अधिकतम दो कन्याएं ही उठा सकती है. इस स्कीम के अंतर्गत देय आर्थिक लाभ निम्नप्रकार हैं:-

  • बच्ची के जन्म होने पर – 2000 रूपए
  • बच्ची को एक वर्ष पूर्व होने एवं आधार कार्ड बनवाने पर – 1000 रूपए
  • बच्ची के 2 वर्ष पूर्ण होने एवं टीकाकरण कराने के बाद – 2000 रूपए
  • बारहवीं कक्षा उत्तीर्ण करने पर – 10000 रूपए
  • स्नातक डिग्री प्राप्त करने पर – 25000 रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है.

इसके अलावा बिहार कन्या उत्थान योजना के अंतर्गत सेनेटरी नेपकिन, यूनिफार्म खरदने में भी आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है.

13. हिमाचल प्रदेश बालिका जन्म उपहार योजना

हिमाचल प्रदेश सरकार द्वारा भी प्रदेश में लिंगानुपात को सुधारने एवं बेटियों के शेक्षणिक एवं सामजिक जीवन स्तर में सुधार करने के लिए बालिका जन्म उपहार योजना शुरू की गयी है. इस स्कीम के अंतर्गत बालिका के जन्म होने पर 51000 रूपए की एफडीआर की जायेगी. जन्म उपहार योजना का लाभ एक परिवार में अधिकतम दो बेटियों को प्रदान किया जाएगा.

14. झारखण्ड मुख्यमंत्री सुकन्या योजना

झारखण्ड सरकार वर्ष 2019 में मुख्यमंत्री सुकन्या योजना शुरू की गयी. इस स्कीम को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य बालिकाओं के शेक्षणिक एवं सामाजिक जीवन स्तर में सुधार करना है. झारखण्ड मुख्यमंत्री सुकन्या योजना के अंतर्गत चरणबद्ध तरीके से 40000/- रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है. मुख्यमंत्री सुकन्या योजना झारखण्ड के अंतर्गत दी जाने वाली सहायता राशि का वर्णन कुछ इस प्रकार है:-

  • बेटी के जन्म से 2 वर्ष की आयु तक – 5000 रूपए
  • पहली कक्षा प्रवेश लेने पर – 5000 रूपए
  • पांचवी कक्षा में प्रवेश लेने पर – 5000 रूपए
  • आठवीं कक्षा उत्तीर्ण करने पर – 5000 रूपए
  • दसवीं कक्षा उत्तीर्ण करने पर – 5000 रूपए
  • 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करने पर – 5000 रूपए
  • स्नातक डिग्री प्राप्त करने पर – 10000 रूपए

15. आपकी बेटी हमारी बेटी योजना

आपकी बेटी हमारी बेटी योजना को हरियाणा सरकार द्वारा बेटियों के जन्म दर में वृद्धि एवं उच्च शिक्षा के लिए आर्थिक प्रोत्साहन प्रदान करने के उद्देश्य से शुरू की गयी है. हरियाणा आपकी बेटी हमारी बेटी योजना के अंतर्गत परिवार में पहली बेटी के जन्म होने पर 21000/- रूपए एवं दूसरी बेटी के जन्म होने पर पांच पर्षों तक प्रतिवर्ष 5000/- रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है. इस योजना का लाभ 22 जनवरी 2015 या उसके बाद जन्म लेने वाली बालिकाओं हो ही प्रदान किया जाएगा एवं एक परिवार में अधिकतम दो लड़कियों को योजना का लाभ दिया जाएगा.

इसे भी पढ़े:

हम आशा करते हैं की हमारे द्वारा प्रदान की गयी जानकारी से आप संतुष्ठ होंगे. इस प्रकार की अन्य सरकारी योजनाओं के बारे में जानने के लिए हमारी वेबसाइट को सब्सक्राइब करना न भूले. हम आपको समय-समय पर सरकार द्वारा संचालित सामाजिक योजनाओं के बारे में अवगत कराते रहेंगे.

Leave a Comment

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: