झारखण्ड वैकल्पिक खेती योजना 2022 ऑनलाइन आवेदन, पात्रता, लाभ

By | August 23, 2022

Jharkhand Vaikalpik Kheti Yojana 2022 Apply Online: झारखण्ड सरकार द्वारा राज्य के किसानों की आय में वृद्धि करने एवं उनके जीवन-स्तर में सुधार के लिए समय-समय पर कई प्रकार की लाभार्थीपरक योजनाओं का संचालन किया जाता है. इसी प्रकार राज्य के किसानों को वैकल्पिक खेती करने हेतु प्रोत्साहित करने के लिए राज्य सरकार द्वारा कृषि विभाग के सहयोग से एक नयी योजना की शुरुआत की है, इस योजना का नाम झारखण्ड वैकल्पिक खेती योजना है. इस लेख के जरिये हम आपको Jharkhand Vaikalpik Kheti Yojana से सम्बंधित सभी आवश्यक जानकारी प्रदान करने जा रहें हैं, इसलिए आप लेख को अंत तक जरुर पढ़ें.

Jharkhand Vaikalpik Kheti Yojana

इस योजना के माध्यम से किसानों को धान की सीधी बुवाई, ऊपरी जमीन पर उड़द, मूंग, अरहर, मक्का, कुलथी, तोरिया, ज्वार, मडुआ की खेती करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है. जिसके लिए उन्हें छोटी अवधि सूखा प्रतिरोधी नस्ल के बीज अनुदान पर प्रदान किए जा रहे हैं. यह बीज कम वर्षा में प्रभेद सफल होने की क्षमता रखते हैं. जिससे सूखा पड़ने के कारण धान की खेती करने वाले किसानों को जो नुकसान हुआ है, उसकी भरपाई की जा सके. झारखण्ड राज्य के कृषि निदेशक ने ट्वीट करते हुए यह जानकारी साझा की है की, तोरपा महिला कृषि बागवानी स्वालम्बी सहकारी समिति लिमिटेड, सदस्य किसान FPO के CEO प्रिय रंजन से समन्वय स्थापित कर ब्लॉक चेन प्रणाली में पंजीकरण करा लें और जल्द से जल्द बीज क्रय शीघ्र करें।

jharkhand vaikalpik kheti yojana
jharkhand vaikalpik kheti yojana

Jharkhand Vaikalpik Kheti Yojana 2022 : Key Highligts

योजना का नामझारखण्ड वैकल्पिक खेती योजना
शुरू की गयीझारखण्ड सरकार द्वारा
सम्बंधित विभागकृषि एवं किसान कल्याण विभाग, झारखण्ड
लाभार्थीराज्य के किसान
उद्देश्यदलहन, तिलहन एवं सब्जियों की खेती करने के लिए प्रोत्साहित करना
आवेदन प्रक्रियाऑनलाइन / ऑफलाइन
वर्ष2022

झारखंड वैकल्पिक खेती योजना का उद्देश्य

झारखण्ड सरकार द्वारा झारखण्ड वैकल्पिक खेती योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य झारखण्ड के किसानों को वैकल्पिक खेती जैसे: दलहन, तिलहन, सब्जियां आदि की खेती करने के लिए प्रोत्साहित करना है. राज्य सरकार द्वारा इस स्कीम के माध्यम से 5 लाख से अधिक किसानों को अनुदानित बीज प्रभेद उपलब्ध करवाए जा रहें हैं. Jharkhand Vekalpik Kheti Yojana के जरिये राज्य के किसानों को सूखा पड़ने से होने वाले आर्थिक नुकसान की भरपाई करने में मदद करेगी. इस स्कीम के अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार एवं किसानों को वैकल्पिक खेती हेतु प्रोत्साहित करने के लिए राज्य सरकार द्वारा जगह-जगह संगोष्ठी का आयोजन किया जा रहा है.

Jharkhand Vekalpik Kheti Yojana 2022 के लाभ एवं विशेषताएं

  • झारखण्ड सरकार द्वारा राज्य के किसानों को वैकल्पिक खेती हेतु प्रोस्ताहित करने के लिए इस स्कीम की शुरुआत की गयी है.
  • इस स्कीम के माध्यम से किसानों को सूखा पड़ने से होने वाली आर्थिक नुकसान की भरपाई की जायेगी.
  • झारखण्ड वैकल्पिक खेती योजना के माध्यम से राज्य के किसानों को धान के साथ अरहर, उरद, कुलथी, मक्का, तोरिया, मूंग, ज्वार और मडुआ के छोटी अवधि सूखा प्रतिरोधी नस्ल के बीज अनुदान पर दिया जाएगा.
  • यह बीज कम वर्षा होने पर भी प्रभेद सफल होने की क्षमता रखते हैं.
  • इस स्कीम के माध्यम से राज्य में फसल विविधिकरण को भी बढ़ावा मिलेगा.
  • इस स्कीम के जरिये राज्य के किसानों का आर्थिक विकास होगा.
  • उनकी आय में वृद्धि होगी, एवं जीवन स्तर में सुधार होगा.

झारखण्ड वैकल्पिक खेती योजना के लिए दस्तावेज एवं पात्रता

  • आवेदक झारखण्ड राज्य का स्थाई निवासी होना चाहिए.
  • आवेदक किसान होना चाहिए.
  • आधार कार्ड
  • मतदाता पहचान पत्र
  • मूल निवास प्रमाण-पत्र
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • मोबाइल नंबर इत्यादि

झारखंड वैकल्पिक खेती योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया

  • इस स्कीम में पंजीकरण कराने के लिए सबसे पहले आपको तोरपा महिला कृषि बागवानी, स्वावलंबी सहकारी समिति लिमिटेड सदस्य की FPO के CEO प्रिय रंजन से समन्वय स्थापित करना होगा.
  • इसके बाद आपको ब्लॉक चैन प्रणाली में अपना रजिस्ट्रेशन करवाना है.
  • पंजीकरण के बाद आप अनुदानित छोटी अवधि, सूखा प्रतिरोधी नस्ल के बीज खरीद सकते हैं.

Jharkhand Vaikalpik Kheti Yojana FAQs

झारखण्ड वैकल्पिक खेती योजना क्या है?

इस स्कीम के अंतर्गत किसानों को वैकल्पिक खेती जैसे: दलहन, तिलहन एवं सब्जियों की खेती करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है.

झारखण्ड वैकल्पिक खेती योजना में पंजीकरण कैसे करें?

पंजीकरण की सम्पूर्ण जानकारी लेख में ऊपर उल्लेखित है.

योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए किन-किन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी?

राजस्थान वैकल्पिक खेती योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, निवास प्रमाण-पत्र, बैंक खाता विवरण, मोबाइल नंबर आदि दस्तावेजों की जरुरत होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.