Join Our Telegram Group Join Now
Join Our WhatsApp Group Join Now

(NPCSCB) मिशन कर्मयोगी योजना 2023: Mission Karmayogi लक्ष्य, उद्देश्य व लाभ

Mission Karmayogi Yojana: मिशन कर्मयोगी योजना लक्ष्य, NPCSCB Benefits, मिशन कर्मयोगी योजना उद्देश्य व लाभ- प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा मिशन कर्मयोगी योजना की शुरुआत 02 सितम्बर 2020 को की गयी. यह एक कौशल विकास आधारित प्रोग्राम है, जिसमे सरकारी अफसरों एवं कर्मचारियों का स्किल डेवलप, करने के उन्हें प्रशिक्षण दिया जाएगा. इस प्रशिक्षण का कंटेंट ऑनलाइन उपलब्ध होगा. इस योजना के अंतर्गत सरकारी अफसरों के कार्य करने की शैली में सुधार आएगा.

इस योजना के लिए 5 वर्षों का बजट, 510.86 करोड़ रूपयों का होगा, जो कि 46,00,000 (लगभग) केंद्रीय कर्मचारियों को प्राप्त होगा। इस आर्टिकल में हम आपको Mission Karmyogi Yojana से जुडी समस्त जानकारी जैसे मिशन कर्मयोगी योजना क्या है? मिशन कर्मयोगी योजना को शुरू करने का लक्ष्य एवं उद्देश्य क्या है? आदि सवालों के जवाब जानने के लिए इस लेख पर अंत तक बने रहें।

मिशन कर्मयोगी योजना क्या है?

सिविल सेवा में बड़े रिफार्म का ऐलान करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी जी ने “मिशन कर्मयोगी योजना” का आरम्भ किया है. इस योजना के अंतर्गत सिविल सेवा से जुड़े अधिकारियों एवं कर्मचारियों का स्किल डेवलपमेंट किया जाएगा. कर्मयोगी योजना के अंतर्गत सिविल सेवा क्षमता विकास कार्यक्रम (NPCSCB) शुरू होगा.

प्रधानमंत्री किसान मानधन योजनाPM Kisan FPO Yojana
PM Gramin Awas Yojana (PMAY-G)प्रधानमंत्री किसान ट्रेक्टर योजना

इस योजना के अंतर्गत नियुक्ति के बाद सरकारी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को उनकी क्षमता को बढ़ाने के लिए ट्रेनिंग प्रदान की जाएगी. Mission Karmayogi Yojana 2023 को पूरी तरह से केबिनेट की देख-रेख में चलाई जाएगी, जिसकी अध्यक्षता प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा की जायेगी. जिसमें नई एचआर परिषद, चयनित केंद्रीय मंत्री तथा मुख्यमंत्री शामिल होंगे।

स्पेशल परपज व्हीकल का रोल

मिशन कर्मयोगी योजना के तहत एक स्पेशल पर्पस व्हीकल, कंपनी अधिनियम 2013 के सेक्शन 8 के अंतर्गत स्थापित किया जाएगा. यह GOT कर्मयोगी प्लेटफार्म को मैनेज करेगी, एवं इसके अंतर्गत निम्नलिखित कार्य किये जाएंगे:-

  • डिजिटल प्लेटफॉर्म को डिजाइन, इंप्लीमेंट तथा मैनेज किया जाएगा।
  • टेलिमेटरी डाटाबेस स्कोरिंग, मॉनिटरिंग एंड एवल्यूशन ।
  • मेड इन इंडिया प्लेटफार्म को बढ़ावा दिया जाएगा।
  • फीडबैक एसेसमेंट।

Mission Karmayogi Yojana 2023 Highlights

योजना का नाममिशन कर्मयोगी योजना
किसके द्वारा शुरू की गयी भारत सरकार द्वारा
श्रेणीप्रधानमंत्री योजना
लाभार्थी सरकारी कर्मचारी
उद्देश्य कर्मचारियों का कौशल विकास करना।
स्किल ट्रेनिंग की सुविधा ऑनलाइन

मिशन कर्मयोगी योजना का उद्देश्य

मिशन कर्मयोगी योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य सरकारी अधिकारीयों एवं कर्मचारियों का कौशल विकास करने के लिए उन प्रशिक्षण प्रदान करना है, ताकि सरकारी अधिकारी अपनी कार्य शैली में सुधार कर सके एवं अच्छा परिणाम दे सके. ऑफिसरों को ऑनलाइन कंटेंट प्रदान किया जाएगा ताकि वह घरों से ही प्रशिक्षण प्राप्त कर सके.

मिशन कर्मयोगी योजना अपडेट

मिशन कर्मयोगी योजना का संस्थागत ढाँचा

मिशन कर्मयोगी स्कीम को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की अध्यक्षता में चलाया जाएगा, जिसमे केंद्रीय मंत्री एवं मुख्यमंत्री भी शामिल होंगे, और साथ ही क्षमता निर्माण आयोग, स्पेशल परपज व्हीकल, प्रधानमंत्री जी के मानव संसाधन परिषद (सार्वजनिक), सामान्य इकाई जिसके अध्यक्ष कैबिनेट सचिव होंगे एवं iGOT तकनीकी मंच (ऑनलाइन परीक्षण हेतु) शामिल होगी।

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजनाप्रधानमंत्री ग्रामीण डिजिटल साक्षरता अभियान
प्रधानमंत्री वय वंदना योजनाPM Pension Yojana

मिशन कर्मयोगी योजना के लाभ तथा विशेषताएं

  • इस योजना के अंतर्गत सरकारी अधिकारियों के स्किल डेवलप के लिए प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा.
  • सरकारी ऑफिसरों के कार्य करने की शैली में सुधार एवं उनकी क्षमता को बढ़ने का प्रयास किया जाएगा।
  • iGOT तकनीकी मंच के माध्यम से सरकारी अधिकारियों को ऑनलाइन ट्रेनिंग दी जायेगी.
  • Mission Karmayogi Yojana 2023 के दो मार्ग होंगे सर्व चालित तथा निर्देशित।
  • इस योजना के तहत 5 वर्षों का बजट 510.86 करोड़ रूपए होगा।
  • इस योजना का लाभ 46,00,000 (लगभग) केंद्रीय कर्मचारियों को मिलेगा.।
  • इस योजना के अंतर्गत ऑन द साइड ट्रेनिंग पर अधिक ध्यान दिया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत एक स्वामित्व वाली विशेष परियोजना वाहन कंपनी का गठन किया जाएगा। जो iGOT कर्मयोगी की प्लेटफार्म का स्वामित्व और प्रावधान करेगी।
  • इस योजना के तहत विशेषतः आईएएस, आईएफएस, आईपीएस और आईआरएस अधिकारियों को लाभ मिलेंगे।

Mission Karmayogi सिविल सेवा में किये गए बदलाव

सिविल सेवा से जुड़े सभी कर्मचारी एवं अधिकारी किसी भी समय योजना में शामिल हो सकते हैं, एवं ट्रेनिंग ले सकते हैं. योजना से जुड़ने के बाद ऑनलाइन प्रशिक्षण हेतु लैपटॉप, मोबाइल की सुविधा प्रदान की जाएगी और सिविल सेवा से जुड़े अधिकारियों को ट्रेनिंग के लिए अलग-अलग विभागों के ट्रेनर को शामिल किया जाएगा. मिशन कर्मयोगी योजना के अंतर्गत ऑफ साइट सीखने के कंसेप्ट को बेहतर बनाते हुए ऑन द साइट सीखने के सिस्टम पर जोर दिया जाएगा.

कर्मयोगी योजना मिशन के अंतर्गत किन कौशल को विकसित किया जाएगा

  • इनोवेटिव (Innovative)
  • क्रिएटिविटि (Creativity)
  • कल्पनाशीलता (Imaginative)
  • सक्षम (Able)
  • पारदर्शी (Transparent)
  • प्रगतिशील (Progressive)
  • प्रोएक्टिव (Pro-active)
  • तकनीकी हिसाब से दक्ष (Technically Able)
  • ऊर्जावान (Energetic) इत्यादि।

iGOT कर्मयोगी प्लेटफार्म क्या है?

iGOT कर्मयोगी प्लेटफार्म के माध्यम से सरकारी ऑफिसरों को ऑनलाइन कंटेंट की सामग्री उपलब्ध कराई जायेगी. इसके अलावा तैनाती, रिक्तियों की सूचना, परिवीक्षा समय के पश्चात की पुष्टि, कार्य निर्धारण, इत्यादि जैसी और भी कई सुविधाएँ उन्हे प्राप्त होंगी।

ऑनलाइन प्रशिक्षण के लिए iGOT कर्मयोगी प्लेटफार्म

  • परिवीक्षा अवधि के बाद की पुष्टि
  • तैनाती
  • कार्य निर्धारण
  • रिक्तियों की अधिसूचना
  • अन्य सेवा मायने रखती है

FAQ,s (Mission Karmyogi Yojana)

Q:1 मिशन कर्मयोगी योजना क्या है?

Ans:1 इस योजना के माध्यम से सिविल अधिकारीयों को ऑनलाइन ट्रेनिंग प्रशिक्षण दिया जायेगा।

Q:2 इस योजना को कब व किसके द्वारा मंजूरी दी गयी?

Ans:2 मिशन कर्मयोगी योजना को 02 सितम्बर 2020 को प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा मंजूरी दी गयी.

Q:3 मिशन कर्मयोगी योजना से जुडी ऑफिसियल वेबसाइट क्या है?

Ans:3 इस योजना से जुडी ऑफिसियल वेबसाइट अभी लांच नहीं की गयी है.

Q:4 योजना के अंतर्गत कितना बजट निर्धारित किया गया है?

Ans:4 योजना के लिए 5 वर्ष तक बजट निर्धारित किया गया है। जो की 510.86 करोड़ रूपये हैं।

Q:5 मिशन कर्मयोगी योजना का उद्देश्य क्या है?

Ans:5 इस योजना को लागू करने के मुख्य उद्देश्य अधिकारियों एवं कर्मचारियों को प्रशिक्षण प्रदान कर उनकी कार्यक्षमता में बृद्धि करना है.

Leave a Comment

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: