PM Kisan Samman Nidhi Scheme में गलत तरीके से पैसा लेने वालों पर गिरेगी गाज, शुरू होने जा है फिजिकल वेरिफिकेशन

By | August 6, 2021
PM Kisan Samman Nidhi Scheme Physical Verification

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना किसानों के लिए शुरू की गयी केंद्र सरकार की लाभकारी योजनाओं में से एक है। इस योजना के तहत लाभार्थी किसानों को 2000-2000 रूपए की 3 किस्तों के रूप में सालाना 6000 रूपए दिए जाते हैं. यह सहायता राशि DBT के माध्यम से किसानों के खातों में सीधे ट्रांसफर की जाती है।

PM Kisan Latest Update : Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi 9 installment 2000 rs is released by the central government. It will be credited soon in PM Kisan Beneficiary bank account in some days. So do check your bank statement or messages regularly.

गलत तरीके से किसान योजना में पैसा लेने वालों पर गिरेगी गाज

सरकार को ऐसी जानकारी मिली है की, कुछ अपात्र व्यक्ति भी पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ ले रहें है। इस पर रोक लगाने के लिए सरकार फिजिकल वेरिफिकेशन की प्रक्रिया अपनाने जा रही है। जिससे इस भ्रष्टाचार को रोका जा सके और जो पात्र किसान हैं, उन तक इस योजना का लाभ पहुंचाया जा सके।

August 5 2021 Update – मोदी सरकार अगस्त के दुसरे सप्ताह में किसान योजना 9वीं किश्त जारी कर सकती है। ऐसे में केंद्र उन किसानों का नाम बेनेफिसिअरी सूची में से हटा सकता है जो गलत डाक्यूमेंट्स सबमिट करके योजना का लाभ ले है। ऐसा करने के लिए सरकार को डबल चेक के साथ साथ फिजिकल वेरिफिकेशन भी करना होगा।

5% किसानों का होगा फिजिकल वेरिफिकेशन

सरकार को यह जानकारी मिली है की जो लोग इस योजना के पात्र नहीं है वह भी इस योजना का लाभ ले रहें है। ऐसे में सरकार 5 फ़ीसदी किसानों का फिजिकल वेरिफिकेशन करवाने जा रही है। इससे गलत लोगों की पहचान हो सकेगी और सही लाभार्थियों का पता लगाया जा सकेगा ताकि PM Kisan Samman Nidhi Scheme का पैसा सही और जरूरतमंद किसानों को मिल सके।

जिला कलक्टर की देख रेख में होगा वेरिफिकेशन

कृषि मंत्रालय के अनुसार, यह वेरिफिकेशन जिला कलक्टर की देख-रेख में होगा। इसमें किसानों द्वारा प्रस्तुत दस्तावेजों की जांच मौके पर की जायेगी। डॉक्युमेंट्स की जांच करने के आधार पर पता चल सकेगा की, कोई फर्जी तरीके से इस योजना का लाभ तो नहीं उठा रहा है। इसलिए जो इस योजना का गलत तरीके से फायदा उठा रहें हैं, उन्हें सावधान होने की जरुरत है।

National Health Insurance SchemePM Shramik Setu Portal App
स्माम किसान योजना ऑनलाइन फॉर्मPM Kisan Yojana Helpline Number

वेरिफिकेशन में फर्जी पाए जाने वालों से पैसे लिए जाएंगे वापस –

यदि कोई व्यक्ति वेरिफिकेशन में फर्जी पाया जाता है, या उसके द्वारा प्रस्तुत दस्तावेज एक दुसरे से मेल नहीं खाते तो उनसे पैसे वापस लिए जाएंगे। पहले भी गलत खातों से पैसे वापस लिए जा चुके हैं. दिसंबर 2019 तक मोदी सरकार ने 8 राज्यों के कुल 1,19,743 लाभार्थियों के खाते से पैसे वापस ले लिए हैं। अब गलत खातों में पैसे नहीं जाए, इसके लिए फिजिकल वेरिफिकेशन की प्रक्रिया शुरू की जा रही है।

फिजिकल वेरिफिकेशन कैसे किया जाएगा?

केंद्र सरकार अब किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थियों के डाटा का आधार वेरिफिकेशन अनिवार्य कर दिया है। किसानों द्वारा दी गई सूचना को दस्तावेजों से मैच किया जाएगा। यदि दस्तावेजों और दी गयी जानकारी में किसी भी प्रकार कि त्रुटि या कमी पायी जाती है, तो सम्बंधित राज्यों को उन लाभार्थी किसानों की जानकारी में सुधार या बदलाव किया जाएगा।

कैसे लिया जाता है पैसा वापस?

यदि कोई किसान, पीएम सम्मान निधि योजना की शर्तों को पूरा नहीं करता अर्थात अपात्र है, और जिनके दस्तावेज और आवेदन में भरी गयी जानकारी एक-दुसरे से मैच नहीं खाती, तो उनके खाते में भेजा गया पैसा Direct Benefit Transer (DBT) के माध्यम से वापस लिए जाएंगे।

मुजफ्फरपुर में Income Tax देने वाले 38 किसानों ने लौटाई पीएम किसान सम्मान निधि की राशि

पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) के पात्र नहीं होने पर भी कई लोग इस योजना का लाभ ले रहें हैं। इन सब को रोकने के लिए सरकार ने फिजिकल वेरिफिकेशन की प्रक्रिया शुरू कर दी है। ऐसे लोग जो फर्जीवाड़ा करके प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ ले रहें हैं अब राशि लाभार्थियों के गले के फांस बन गयी है। इस सम्बन्ध में मुज्जफरपुर जिले के ऐसे लोग जो इनकम टैक्स भरते हैं वह भी इस योजना का लाभ ले रहें हैं। विभाग की सख्ती के बाद 38 ऐसे किसानों ने राशि वापिस की है। यह सिलसिला जारी है, जानकारी के अनुसार जिले में अब तक 3007 किसानों ने दो करोड़ 66 लाख 96 हज़ार रूपए का गलत तरीके से उठाव किया है.

इस तरह सामने आया पूरा मामला

प्रधानमंत्री किसान योजना का लाभ लेने के लिए आधार कार्ड को लिंक करना अनिवार्य कर दिया था। आधार कार्ड लिंक से जब इनकम टैक्स देने वाले किसानों की पहचान होने लगी तो फर्जीवाड़ा पकड़ में आया। इसके बाद राशि लौटने के लिए नोटिस किया गया है। मुजफ्फरपुर जिले के जिन किसानों ने गलत तरीके से पीएम किसान सम्मान निधि योजना का लाभ लिया है उन्हें राशि लौटने के लिए नोटिस भेजा जा रहा है। यदि नोटिस भेजे जाने के बाद भी किसान राशि वापिस नहीं करते है तो उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।

अन्य प्रमुख आर्टिकल्स –

हम आशा करते है आप हमारे द्वारा दी गयी पीएम किसान योजना फिजिकल वेरिफिकेशन की जानकारी से संतुष्ट है यदि आपके कोई प्रश्न है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में शेयर कर सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *