PM Kisan Yojana: अगर ये गलती करोंगे तो 2000 रू की अगली क़िस्त नहीं आएगी।

By | June 16, 2020

PM kisan yojana: यदि आपने किसान सम्मान निधि योजना में आवेदन क्या है और फॉर्म में ये गलतियां की है तो आपको इस योजना के तहत 2000 रूपये की क़िस्त नहीं दि जाएगी। लाभ लेने के लिए आप भूल कर भी इन गलितयों को न करें ये गलतियां क्यां है आपको निचे बताया गया है। इससे पहले हम जान लेते है कि इस योजना का लाभ लेने के लिए क्या पात्रता है, और यह योजना क्या है ?

Pm Kisan Samman Nidhi Yojana 2020

किसान सम्मान निधि योजना:-

PM Kisan योजना केंद्र सरकार द्वारा चलाई गयी किसानो के लिए सबसे महत्वपुर्ण योजना है। इस योजना के तहत गरीब परिवार के किसानो को लाभ दिया जाता है। इस योजना के अंतर्गत लाभार्थी किसानो को सालाना 6000 रूपये की राशि आर्थिक रूप से दी जाती है। इस स्कीम के तहत किसानो को 6000 रूपये तीन किस्तों में दिए जाते है जोकि 2000-2000 रूपये की तीन सामान क़िस्त होती है जोकि उनके बैंक खाते में DBT के माध्यम से हस्तांतरण कर दी जाती है।

बता दें, हाल ही में कोरोना वायरस के वजह से सरकार ने किसानो की आर्थिक रूप से मदद की है जिसके तहत उनको 2000 रूपये की क़िस्त तीन महीनो तक दी जा रही है। अभी तक सरकार द्वारा किसानो के खाते में 2000 रूपये की पांच क़िस्त आ गई है बस छठी क़िस्त आना बाकी है।

अगर आप किसान सम्मान निधि योजना का लाभ लेना चाहते है तो आपको अपने आवेदन फॉर्म को सही सही भरना चाहिए, ताकि आगे जब आपकी क़िस्त आये तो रुके नहीं। यदि फॉर्म मे छोटी सी भी गलती करते है तो आपकी आने वाली क़िस्त भी रोक दी जाती है। क्या है वह गलतियां जो लोग अक्सर करते है।

Samman Nidhi Yojan के लिए कौन पात्र है।

इस योजना का लाभ लेने के लिए किसान के पास 2 हेक्टेयर से कम या इसके बराबर जगह होनी चाहिए। वह भारत का मूल निवासी होना चाहिए। उसके पास सभी जरूरी दस्तावेज सरकार द्वारा वैध रूप से होने चाहिए।

Kisan Yojana आवेदन के दौरान क्या गलतियां अक्सर करते है।

=> योग्य नहीं होने पर इस योजना के लिए अप्लाई कर देते है जिससे उनका फॉर्म रद्द हो जाता है।
=> फॉर्म भरते समय जरूरी जानकारी गलती देना।
=> जरूरी दस्तावेज एक दूसरे से मैच नहीं होने पर।
=> बैंक अकाउंट, IFSC कोड गलत डालने पर।
=> आधार कार्ड में जो नाम है और PM-Kisan फॉर्म में मेच नहीं होने पर।
=> बैंक और आधार कार्ड एक दूसरे से लिंक नहीं होने पर।
=> गलत व्यक्ति जिसके नाम खेत नहीं है उसके नाम से आवेदन भरना।
=> फॉर्म को किसी ऐसे व्यक्ति भरवाना जिसे इसका अनुभव न हो।
=> खेत का विवरण स्पष्ट न होने पर या खेत पर विवाद होने पर।

महत्वपूर्ण सूचना:

इन सभी गलितयों को ध्यान में रखते हुए फॉर्म भरते हो तो आपका फॉर्म रद्द नहीं होगा और 2000 रूपये की क़िस्त निरंतर आती रहेगी। इसके अलावा आप आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर इसकी नोटिफेक्शन जरूर पढ़ लें ताकि आप आसनी से इन गलतियों को सुधार कर सकते है। यदि आप इस लेख से संबंधी कोई सवाल पूछना चाहते है तो हमें कमेंट अनुभाग के माध्यम से बता सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *