(Free LED Bulb) प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना 2021: Gramin Ujala Yojana पंजीकरण

By | June 9, 2021

ग्रामीण क्षेत्रों एवं ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के सामाजिक स्तर को ऊँचा उठाने के लिए समय-समय पर केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा कई लाभकारी योजनाओं को शुरू किया जाता है. इसी प्रकार EESL द्वारा प्रधानमंत्री ग्रामीण योजना 2021 की शुरुआत की गयी है. इस योजना के अंतर्गत प्रत्येक ग्रामीण परिवारों को 3 से 4 LED Bulb प्रदान किये जाएंगे। दोस्तों, इस लेख में हम आपको Pradhanmantri Gramin Ujala Yojana 2021 से जुडी समस्त जानकारी से अवगत कराने जा रहें है, इसलिए उचित जानकारी प्राप्त करने के लिए आपसे अनुरोध है की लेख को आखिर तक जरूर पढ़ें.

Gramin Ujala Yojana 2021। प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना

ग्रामीण उजाला योजना 2021 के माध्यम से प्रत्येक ग्रामीण क्षेत्र के परिवारों 10-10 रूपए में एलईडी बल्ब प्रदान किये जाएंगे। इससे लोगों के बिजली बिल में कमी आएगी एवं पैसों की बचत होगी एवं ग्रामीण क्षेत्र के लोगों के जीवन स्तर में सुधार होगा. Gramin Ujala Yojana को पब्लिक सेक्टर की एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड (EECL) द्वारा आगामी माह में वाराणसी सहित देश के 5 शहरों के ग्रामीण क्षेत्रों में शुरू की जाएगी । पूरे देश में इस योजना को अप्रैल तक लागू कर दिया जाएगा । इस योजना के अंतर्गत लगभग 15 से 20 करोड़ लाभार्थियों को 60 करोड़ एलईडी बल्ब बांटे जाएंगे। इससे ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को काफी राहत मिलेगी।

Pradhan Mantri Gramin Ujala Yojana
Pradhan Mantri Gramin Ujala Yojana

Key Highlights Of Pradhanmantri Gramin Ujala Yojana 2021

योजना का नाम प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना
किसके द्वारा लांच की गयी एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड
उद्देश्य एनर्जी एफिशिएंसी को ग्रामीण इलाकों तक पहुंचाना
लाभार्थी ग्रामीण इलाकों में रहने वाले नागरिक
एलईडी बल्ब का मूल्य 10 रूपए
लाभार्थियों की संख्या 15 से 20 करोड़
एलईडी बल्ब की संख्या 60 करोड़
बिजली की बचत 9324 करोड़ यूनिट
पैसों की बचत 50 हजार करोड़ रुपए
कार्बन उत्सर्जन में कमी7.65 करोड़

प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना के अंतर्गत बचत

प्रधानमंत्री उजाला योजना को चरणबद्ध तरीके से लागू करने के लिए पहले यह योजना पांच शहरों में शुरू की जाएगी जिनमे उत्तर प्रदेश का वाराणसी, महाराष्ट्र का नागपुर, आंध्र प्रदेश का विजयवाड़ा, बिहार का आरा, गुजरात का वडनगर शामिल है. इस योजना से लगभग 9324 करोड़ यूनिट सालाना बिजली की बचत होगी। जबकि 7.65 करोड़ टन सालाना कार्बन उत्सर्जन में कमी आएगी। PM Gramin Ujala Yojana 2021 के माध्यम से 50000 करोड़ रुपए सालाना की बचत होगी। इस योजना के लिए राज्य सरकार व केंद्र सरकार से किसी भी प्रकार की कोई सब्सिडी नहीं ली जायेगी। PM Gramin Ujala Yojana 2021 का सारा खर्च Energy Efficiency Services Limited (EESL) उठायेगी। कार्बन ट्रेडिंग के माध्यम से इस योजना की लागत की वसूली की जायगी।

Yuva Pradhan Mantri Yojana 2021

प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना का उद्देश्य

ग्रामीण उजाला योजना को लागू करने का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में जहाँ बिजली बिजली की आपूर्ति नहीं है वहां बिजली पहुंचाना है. इस योजना के अंतर्गत 10 रूपए में LED बल्ब दिया जाएगा जिससे बिजली बिल में कमी आएगी, एवं पैसों की बचत होती. Gramin Ujala Yojana 2021 के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों का विकास होगा एवं ग्रामीण क्षेत्र में रहने वाले लोगों के सामजिक जीवन स्तर में सुधार आएगा.

PM Gramin Ujala Yojana 2021 की लाभ एवं विशेषताएं

  • इस योजना को पब्लिक सेक्टर की एनर्जी एफिशिएंसी सर्विसेज लिमिटेड द्वारा आरंभ किया गया है।
  • प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले परिवारों को 10 रूपए में एलईडी बल्ब पप्रदान किये जाएंगे.
  • योजना के अंतर्गत प्रत्येक परिवार को 3 से 4 एलईडी बल्ब प्रदान किये जायेंगे.
  • इस योजना को सुचारु रूप से आरा, नागपुर, वडनगर तथा वाराणसी,विजयवाड़ा में शुरू किया गया ।
  • प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना को अप्रैल तक पूरे भारत में लागू कर दिया जाएगा।
  • इस योजना के माध्यम से 60 करोड़ एलईडी बल्ब 15 से 20 करोड़ लाभार्थियों को बांटे जाएंगे।
  • इस योजना के माध्यम से प्रतिवर्ष करीबन 9325 करोड़ यूनिट विधुत की बचत होगी, एवं प्रतिवर्ष 7.65 करोड़ टन कार्बन उत्सर्जन में न्यूनता आएगी।
  • PM Gramin Ujala Yojana 2021 माध्यम से सालाना 50000 करोड रुपए की बचत होगी।
  • प्रधानमंत्री ग्रामीण उजाला योजना को लागू करने के लिए केंद्र तथा राज्य सरकार से कोई भी सब्सिडी नहीं ली जाएगी। इस योजना में जो भी खर्चा आएगा वह ईईएसएल (EECL) करेगी।
  • इस योजना के माध्यम से बिजली के बिल में कमी आएगी, जिससे लोगों की पैसों की बचत होगी.

उजाला कार्यक्रम का पिछला प्रक्षेपण

NTPC, Power Grid PFS, आरईसी संयुक्त उद्यम कंपनी उजाला कार्यक्रम के तहत 70 रूपए प्रति एलईडी बल्ब की दर से 36.50 करोड़ से अधिक एलईडी बल्ब बाटे जा चुके है। जिनमें से केवल 20% बल्ब ही ग्रामीण इलाकों तक पहुंचे हैं। उजाला कार्यक्रम के अंतर्गत एनर्जी एफिशिएंसी पंखे, ट्यूब लाइट, इलेक्ट्रॉनिक व्हीकल,स्ट्रीट लाइट, स्मार्ट मीटर, EV चार्जिंग आदि को सम्मिलित किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *