Rajasthan Shubh Shakti Yojana 2020 – राजस्थान शुभ शक्ति योजना में आवेदन कैसे करे?

By | June 5, 2020

हेलो दोस्तों, आज इस लेख के माध्यम से आपको महत्वपूर्ण योजना के बारे में बताने जा रहे हैं। राजस्थान राज्य में एक महत्वपुर्ण योजना की शुरुआत पहले ही हो चुकी है, जिसका नाम है, राजस्थान शुभ शक्ति योजना (Rajasthan Shubh Shakti Yojana 2020)। इस योजना की शुरुआत 1 जनवरी 2016 को की गई थी। इस योजना का मुख्य उद्देश्य गरीब परिवार की बेटियों के लिए आर्थिक सहायता देना और गरीब परिवार के जीवन स्तर को ऊंचा उठाने के लिए शुरू की गई है।

Shubh Shakti Yojana 2020

राजस्थान शुभ शक्ति योजना क्या है?

शुभ शक्ति योजना के जरिए श्रमिकों के परिवार की बेटियों के हितों की रक्षा करने करने के लिए उन्हें आर्थिक रूप से सहायता दी जाती है। इसमें अविवाहित बेटियों एवं महिला हितादिकारी को सरकार की तरफ से ₹55000 की राशि प्रदान की जाती है।

जैसा की आप सभी जानते हैं, राजस्थान राज्य के श्रमिक परिवार आर्थिक रूप से बहुत कमजोर होते हैं, वे अपनी बेटियों को पढ़ाने में असमर्थ होते हैं और ना ही उन्हें उच्च शिक्षा प्रदान कर पाते हैं। कुछ लोग तो अपनी बेटियों को बोझ समझते हैं, इन सभी परेशानी को देखते हुए सरकार ने शुभ शक्ति योजना (Shubh Shakti Yojana 2020) की शुरुआत की।

इस योजना के जरिए बेटियों को शिक्षा देने के लिए या उनकी शादी के लिए आर्थिक रूप से मदद की जाती है। Rajasthan Shubh Shakti Yojana के अंतर्गत राज्य के परिवार की महिलाओं और अविवाहित बालिकाओं को ₹55000 की राशि सरकार द्वारा दी जाती है।

राजस्थान शुभ शक्ति योजना के लाभ क्या है?

इस योजना का लाभ लेने के लिए श्रमिक परिवार को राजस्थान राज्य का निवासी होना चाहिए।
इस योजना में संयुक्त परिवार लड़कियों और हिताधिकारी महिलाओं को ₹55000 की राशि दी जाती है।
इस योजना का लाभ केवल श्रमिक परिवार की बेटियों और महिलाओं को ही दिया जायेगा।
शुभ शक्ति योजना के अंतर्गत जो धनराशि सरकार द्वारा दी जाती है, उसका उपयोग महिलाएं या अविवाहित लड़कियां अपने शिक्षा, व्यवसाय, प्रशिक्षण प्राप्त करने, व्यवसाय खोलने, कौशल विकास प्रशिक्षण प्राप्त करने आदि में कर सकते हैं।
इस योजना का लाभ लेना चाहते हैं तो पहले आपको इस योजना के लिए आवेदन करना होगा।

Rajasthan Shubh Shakti Yojana की पात्रता क्या है?

राजस्थान शुभ शक्ति योजना में लाभ लेने के लिए परिवार में माता-पिता कम से कम 1 वर्ष से श्रम विभाग में पंजीकृत होना आवश्यक है।
इस योजना के अंतर्गत अधिकतम दो बेटियों, अथवा महिला हिताधिकारी की एक बेटी को ही लाभ मिलता है।
राजस्थान शुभ शक्ति योजना का लाभ लेने के लिए महिला हिताधिकारी या अविवाहित लड़की की उम्र कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए, और साथ ही महिला हिताधिकारी कम से कम आठवीं पास होनी चाहिए।
बैंक में खाता होना चाहिए। इस योजना में निर्धारित धनराशि श्रम विभाग द्वारा श्रमिक होने की सत्यापन पश्चात ही दी जाएगी।
हिताधिकारी के पास अपना खुद का घर है तो उसके घर में शौचालय होना चाहिए।

राजस्थान शुभ शक्ति योजना के महत्वपुर्ण दस्तावेज क्या है?

आवेदक का आधार कार्ड
निवास प्रमाण पत्र
मोबाइल नंबर
जाति प्रमाण पत्र
आय प्रमाण पत्र
पासपोर्ट साइज फोटो
आठवीं की मार्कशीट
आयु प्रमाण पत्र
बैंक की पासबुक
भामाशाह कार्ड की फोटो कॉपी

राजस्थान शुभ शक्ति योजना में आवेदन कैसे करें?

सबसे पहले आपको लेबर डिपार्टमेंट यानी कि श्रम विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है। आपके सामने एक होम पेज ओपन होगा।

इस पेज पर आपको डाउनलोड का ऑप्शन दिखाई देगा। डाउनलोड के ऑप्शन में आप क्लिक करना है, और एप्लीकेशन फॉर्म को डाउनलोड करना है। डाउनलोड करने के बाद आपको इसमें पूछी गई जानकारी सही-सही भरनी है।

सभी जानकारी सही-सही भरने के बाद आपको सभी जरूरी दस्तावेज को अटैच करना है। जरूरी दस्तावेज संलग्न करने के बाद आपको इस आवेदन फॉर्म को अपने नजदीकी श्रम विभाग या मंडल सचिव या अन्य विभाग के समक्ष अधिकारी के सामने प्रस्तुत करना है। इस तरह आप राजस्थान शुभ शक्ति योजना में आवेदन कर सकते हैं।

FAQs

शुभ शक्ति योजना की शुरुआत कब हुई थी ?

इस योजना की शुरुआत राजस्थान राज्य में 1 जनवरी 2016 में हुई थी।

क्या शुभ शक्ति योजना की आधिकारिक वेबसाइट है?

जी हाँ, इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट है जिसका लिंक यह है। http://labour.rajasthan.gov.in/

राजस्थान शुभ शक्ति योजना के माध्यम से कितनी राशि दी जाती है ?

इस योजना के माध्यम से बेठियो एवं हिताधिकारी को 55000 की राशि दी जाती है।

शुभ शक्ति योजना का लाभ अधिकतम कितनी पुत्रियों को सहायता राशि दी जाती?

हिताधिकारी की अधिकतम दो पुत्रियों को सहायता राशि दी जाती है।

शुभ शक्ति योजना में आवेदन करने के लिए न्यूनतम आयु कितनी होनी चाहिए ?

हिताधिकारी की पुत्री की आवेदन करने के लिए न्यूनतम आयु 18 वर्ष होनी चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *