बड़ी खबर – राजस्थान सरकार ने लिया राशन डीलर्स (Ration Dealers) कि इनकम बढाने का फैसला

By | May 25, 2020

सबसे पहले आप सभी का स्वागत करते है। आज इस लेख में राजस्थान सरकार द्वारा क्या बड़ा फैसला लिए गया है इसके बारे में चर्चा करेंगे। यदि आप जानना चाहते है तो हमारे इस लेख का पूरा अध्ययन करें, और साथ ही आप अपने दोस्तों और परिवार के सदस्यों को साझा करना न भूलें।

राजस्थान सरकार ने लिया राशन डीलर्स (Ration Dealers) कि इनकम बढाने का फैसला

बता दे सरकार ने हाल ही में राशन डीलर्स के हित में के फैसला लिया है, जिसके माध्यम से डीलर्स को आय का जरिया बढ़ेगा। इस फैसले से राशन डीलर्स बहुत खुश है। इससे उन्हें अपनी आय में वृद्धि करने में मदद मिलेगी। सरकार ने इस फैसले में यह कहा है कि Ration Dealers सरकारी राशन कि दूकान पर ई-मित्र सेवा भी शुरु कर सकता है।

सरकार का कहना है कि राज्य की उन्नति के साथ-साथ राज्य के Ration Dealers की भी आय का स्रोत बढ़ना चाहिए, इसलिए सरकार ई-मित्र की सेवा शुरू करने जा रही है। यदि कोई राशन डीलर्स दुकान पर ई-मित्र सेवा शुरू करना चाहता है तो उसे सुचना प्रोधोगिकी और संचार विभाग द्वारा निर्धारित किये गये आवेदन पत्र को भरना होगा।

Ration Dealer New Update

राजस्थान के खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री श्री रमेश मीणा के अनुसार: –

राजस्थान के खाद्य और नागरिक आपूर्ति (Food Supplies) मंत्री श्री रमेश मीणा ने कहा है कि राज्य में सरकारी राशन की दुकानों पर केवल राशन ही वितरित होता है, लेकिन अब राशन डीलर्स ई-मित्र ( e-Mitra) की सेवाएं भी शुरू कर सकते है। बता दें राशन की दुकानों पर राशन को सरकारी दर पर भेजा जाता है। वह राशन डीलरों के द्वारा दो या तीन दिन में लोगों को वितरित कर दिया जाता है। इसके बाद उनके पास अगले महीने तक कोई भी आमदनी की कोई व्यवस्था नहीं होती है।

इसलिए सरकार ने राशन डीलर्स के लिए एक प्लान तैयार किया है इसके जरिये वह फ्री समय में अपनी आमदनी को बढ़ा सकते है। बता दे अधिकतर राशन डीलर्स लोगो को राशन वितरित करने के लिए किराए पर दुकाने लेते है। इस कारण उन डीलर्स की ज्यादा इनकम नहीं हुआ करती है। इसलिए सरकार ने राज्य के राशन डीलर्स के हित में यह फैसला लिया है। इसे वह अपनी दूकान का किराया भी भर सकते है और आमदनी का श्रोत बढ़ा सकते है।

Ration Dealers के लिए नियम/शर्ते:-

राशन डीलर यदि ई-मित्र ( e-Mitra) की सेवाएं शुरू करना चाहता है तो वह खोल सकता है। लेकिन सरकार के नियमो का पालन करना होगा। जब लोगों को राशन वितरित का समय है, उस समय केवल राशन ही वितरित किया जाना चाहिए। इस बाद विशेष ध्यान रखें कि ई-मित्र कियोस्क के कारण लोगो को राशन के लिए परेशान न होना पड़े। इसके लिए सरकार की गाइडलाइन को फॉलो करना होगा। यदि राशन वितरण प्रणाली में कोई रूकावट आये या कोई लापरवाई पकड़ी जाती है तो राशन डीलर्स का लाइसेंस रद्द भी किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *