Solar Pump Yojna – योजना के लिये आवेदन करे और लगाए अपने खेत में सोलर पंप।

By | July 13, 2020

दोस्तों इस आर्टिकल में हम आपको सोलर पंप योजना के बारे में जानकारी प्रदान करने जा रहें हैं, और इस योजना का लाभ लेने के लिए आपको आवेदन किस प्रकार करना होगा, इसके बारे में भी जानकारी देंगे. तो चलिए शुरू करते हैं :-

Solar Pump Yojna: दोस्तों जैसा की आप भली भांति जानते हो की, भारत एक कृषि प्रधान देश है. भारत देश में किसानों को अन्नदाता कहा जाता है. भारत में किसानों के आर्थिक और सामाजिक जीवन स्तर में सुधार करने के लिए समय-समय पर कई योजनाएं शुरू की जाती है. किसानों के लिए शुरू की गयी लाभकारी योजनाओं में से एक “सोलर पंप योजना” है.

PM Fasal Bima Yojnaमध्य प्रदेश किसान कर्ज माफ़ी योजना सूचि
PM Awas Yojana List 2020-21PM Kisan Mandhan Yojana

सरकार द्वारा आधुनिक खेती को प्रोत्साहित करने तथा किसानों को खेती करने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी मिल सके, इसके लिए सोलर पंप योजना की शुरुआत की गयी है. इस योजना के तहत डीजल/पेट्रोल से चलने वाले पम्पों को हटाकर सौर ऊर्जा से चलने वाले सोलर पंप लगाए जायेगे.

Solar Pump Yojna

इस योजना का लाभ उन क्षेत्रों के किसानों को होगा जो सूखाग्रत है, तथा जहाँ बिजली की आपूर्ति ठीक से नहीं होती, तथा खेतों की सिंचाई के लिए पर्याप्त मात्रा में जल नहीं है. Solar Pump Yojana के अंतर्गत किसानों को सस्ती दरों पर सोलर पंप उपलब्ध कराएं जाएंगे। इन सोलर पंप का इस्तेमाल किसान सिर्फ खेती सम्बंधित कार्य और सिंचाई के लिए ही कर पाएंगे. इसे न तो बेच सकते हैं, और न किराए पर दे सकते हैं.

हमारा घर हमारा विद्यालय योजनाMP Ladli Laxmi Yojana
PM Svanidhi SchemeAyushman Bharat Hospital List 2020

इस योजना के अंतर्गत राज्य सरकार आने वाले तीन सालों में किसानों को 2 लाख सोलर पंप प्रदान करेगी. जिसमे अभी तक राज्य सरकार, 14250 किसानों को सोलर पंप प्रदान कर चुकी है.

Solar Pump Yojna (सोलर पंप खरीदने पर मिलेंगी सब्सिडी) –

  • किसान भाइयों, सोलर पंप योजना के अंतर्गत सोलर पंप खरीदने पर आपको सब्सिडी दी जायेगी.
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए आपके पास सोलर पंप संयंत्र स्थापना हेतु भूमि होनी चाहिए.
  • योजना का लाभ लेने से पहले सोलर पंप की स्थापना के लिए पूर्व मध्य प्रदेश ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड से अनुमति लेना होगा।
  • इस योजना के अंतर्गत किसान सिर्फ 10 फ़ीसदी राशि का ही भुगतान करना होगा.
  • राशि प्राप्त होने के बाद 120 दिनों के भीतर सोलर पंप लगा दिया जाएगा. विषम परिस्थितियों में इसकी समय अवधि बढ़ाई जा सकती है.

सोलर पंप योजना का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों की आय में बढ़ोतरी करना है, तथा ऐसे क्षेत्र जो सूखाग्रस्त है, जहाँ बिजली नहीं आती है, तथा जहाँ पानी की पर्याप्त मात्रा नहीं है ऐसे क्षेत्र के किसानों को सिचाई के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी मिल सके इसके लिए सोलर पम्पों की स्थापना करना है. इस योजना के अंतर्गत बंजर पड़ी भूमि का भी उचित उपयोग हो सकेगा.

Solar Pump Scheme में किसानों को सिर्फ 10 प्रतिशत की राशि का भुगतान करना पड़ेगा –

इस योजना के तहत सोलर पंप लगाने हेतु, किसानों को कुल लागत का मात्र 10 प्रतिशत की राशि का भुगतान करना पड़ेगा. 60 प्रतिशत राशि केंद्र और राज्य सरकार द्वारा दिया जाएगा, और बाकि की 30 प्रतिशत राशि बैंको के माध्यम से दी जायेगी.

Silai Machine Yojana 2020Indira Grah Jyoti Yojana
मुख्यमंत्री जन कल्याण संबल योजनाMP Medhavi Chhatra Yojana

Solar Pump Yojana – (आवश्यक दस्तावेज और पात्रता)

  • किसान मध्यप्रदेश का स्थाई निवासी होना चाहिए.
  • किसान के पास Solar Pump स्थापना हेतु जमीन होनी चाहिए.
  • आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • जमीन सम्बन्धी दस्तावेज
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण-पत्र
  • बैंक पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

Solar Pump Yojna हेतु आवेदन कैसे करे –

राज्य के इच्छुक लोग जो इस योजना में आवेदन करना चाहते हैं वह निचे दिए गए तरीके को फॉलो करें :-

  • सबसे पहले आवेदक को इस योजना से संबंधित Official Website पर जाना होगा.
  • Official Website : https://cmsolarpump.mp.gov.in/
  • ऑफिसियल वेबसाइट ओपन होने के बाद “नवीन आवेदन करें” पर क्लिक करें.
  • अब आपको अगले पेज पर अपना “मोबाइल नंबर” डालकर “Send OTP” पर क्लिक करें.
  • अब आपके मोबाइल नंबर पर OTP आएगा. OTP डालकर “Verify OTP” पर क्लिक करें.
  • अब आपके कंप्यूटर स्क्रीन पर “आवेदन फॉर्म” खुल जाएगा. इस आवेदन फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी सही-सही भरकर, डॉक्यूमेंट अपलोड करके सबमिट बटन पर क्लिक करें.
  • इस प्रकार आप आसानी से Solar Pump Yojana में आवेदन कर सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *