(फॉर्म) Solvency Certificate 2021 | Application Form For Solvency Certificate | हैसियत प्रमाण पत्र

By | March 1, 2021

Solvency Certificate 2021: दोस्तों, इस लेख में हम हैसियत प्रमाण-पत्र (Solvency Certificate) क्या है ? इसे कैसे व क्यों बनवाया जाता है तथा इसे बनवाने के लिए किन-किन दस्तावेजों की आवश्यकता होती है आदि के बारे में जानकारी प्रदान करने जा रहें हैं, इसलिए लेख को पूरा जरूर पढ़ें.

हैसियत प्रमाण-पत्र क्या है ? | What is a Solvency Certificate?

Haisiyat Praman Patra (Solvency Certificate) एक सरकारी दस्तावेज होता है जो किसी किसी व्यक्ति/संस्था की वित्तीय स्थिरता के बारे में जानकारी प्रदान करता है. यह प्रमाण पत्र राजस्व विभाग के जिला मजिस्ट्रेट का तहसील अधिकारी द्वारा बनाया जाता है. सॉल्वेंसी सर्टिफिकेट (Solvency Certificate) सरकार और वाणिज्यिक कार्यालयों द्वारा व्यक्तियों / संस्थाओं की वित्तीय स्थिति के बारे में सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक है। इस प्रमाण-पत्र को बनवाने के लिए व्यक्ति को अपनी चल-अचल संपत्ति का विवरण देना होता है. एक Haisiyat Praman Patra व्यक्ति या संस्था की वित्तीय स्थिति के बारे में जानकारी प्रदान करता है.

सॉल्वेंसी सर्टिफिकेट कौन जारी करता है? | Who issues a Solvency Certificate?

Solvency Certificate व्यक्ति के अनुरोध पर राजस्व विभाग और बैंक द्वारा जारी किया जाता है. बैंक आमतौर पर अपने ग्राहकों के लिए यह प्रमाण पत्र खाता लेनदेन और उनके पास उपलब्ध संपत्ति दस्तावेजों के आधार पर जारी करते हैं. व्यक्ति या संस्था की वित्तीय स्थिति को ध्यान में रखते हुए चार्टर्ड अकाउंटेंट (CA) की एक रिपोर्ट भी बैंकों से सॉल्वेंसी प्रणाम पत्र प्राप्त करने में मदद करती है.

Solvency Certificate Sample

सॉल्वेंसी प्रमाण पत्र की आवश्यकता किन-किन कार्यों में होती है ?

निम्नलिखित कारणों से एक सॉल्वेंसी प्रमाणपत्र की आवश्यकता है:

  • निविदाओं के लिए आवेदन करना
  • अनुबंध प्राप्त करना,
  • वीजा साक्षात्कार,
  • कानूनी / अदालत मामले आदि।

Documents Required for Solvency Certificate

सॉल्वेंसी सर्टिफिकेट बनवाने के लिए उम्मीदवार को निम्लिखित दस्तावेज प्रस्तुत करने होंगे:-

  • आवेदक का पहचान प्रमाण – पैन कार्ड, आधार कार्ड
  • आवेदक का वर्तमान पता प्रमाण – फोटो, मतदाता पहचान पत्र के साथ राशन कार्ड
  • आवेदक का स्थायी निवास प्रमाण – ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट
  • एक वेतनभोगी व्यक्ति / कर्मचारी के लिए
  • पिछले 3 महीने की सैलरी स्लिप
  • पिछले 3 वर्षों के लिए आयकर रिटर्न
  • अचल संपत्ति का विवरण (प्रासंगिक दस्तावेजों के साथ)
  • यदि कृषि भूमि हो
  • खतौनी और खसरा।
  • फर्द की नवीनतम प्रति।
  • सभी अतिक्रमणों से मुक्त होने के सभी गुणों का प्रमाण।
  • विधिवत पंजीकृत बिक्री विलेख जो आवेदक को संपत्ति के एकमात्र मालिक के रूप में दिखाता है।
  • सरकार द्वारा अनुमोदित एक वैल्यूएटर से सभी संपत्तियों के लिए सत्यापन प्रमाण पत्र।
  • यदि हाउस हो।
  • हाउस टैक्स भुगतान की रसीद।
  • यदि मोटर वाहन हों।
  • बीमा दस्तावेज के साथ पंजीकरण प्रमाण पत्र।
  • पिछले छह महीने का बैंक स्टेटमेंट
  • यदि शेयर / डिबेंचर हो तो शेयर / डिबेंचर सर्टिफिकेट।
  • उम्मीदवार को आवेदन पत्र के साथ स्व-घोषणा पत्र की एक हस्ताक्षरित प्रति या एक शपथ पत्र प्रदान करना होगा।
  • वेतनभोगी व्यक्ति के लिए शपथ पत्र।

हैसियत प्रमाण-पत्र के लिए आवेदन कैसे करें ? Application process Solvency Certificate (Haisiyat Praman Patra)-

इच्छुक उम्मीदवार को Solvency Certificate के लिए आवेदन करना चाहते हैं वह निचे दिए गए तरीके को फॉलो करें :-

  • सर्वप्रथम आपको बैंक या राजस्व विभाग जाकर आवेदन पत्र प्राप्त करें.
  • अब आवेदन पत्र में पूछी गयी सभी जानकारी जैसे व्यक्तिगत विवरण, संपत्ति का विवरण, व्यक्तिगत संलग्नक, संपत्ति के अनुसार सम्बंधित दस्तावेज, घोषणा पत्र जैसी अन्य जानकारियों का पूरा विवरण सही-सही भरना होगा.
  • फॉर्म भरने के बाद फॉर्म के सभी आवश्यक दस्तावेजों को संग्लन करना होगा.
  • अब फॉर्म को राजस्व विभाग या बैंक में जाकर जमा करा दें.
  • सक्षम अधिकारियों द्वारा आपके आवेदन पत्र का सत्यापन किया जाएगा.
  • सत्यापन करने के बाद एक सप्ताह के भीतर आपको हैसियत प्रमाण पत्र (Sovency Certificate) जारी कर दिया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *