मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना 2020: UP Bal Shramik Vidya Yojana Apply Online, Registration Form

By | August 7, 2020

UP Bal Shramik Vidya Yojana Apply Online | UP Bal Shramik Vidya Yojana Registration Form | मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना | यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना ऑनलाइन आवेदन

मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना की शुरुआत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ द्वारा श्रमिक परिवार के बच्चों को अच्छा जीवन तथा अच्छी शिक्षा प्रदान करने के लिए की गयी है. बाल श्रमिक योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश के अनाथ तथा श्रमिकों के बच्चों को उच्च शिक्षा प्रदान करने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जायेगी.

UP Bal Shramik Vidya Yojana

UP Bal Shramik Vidya Yojana के अंतर्गत श्रमिक परिवार के बालकों को 1000 रूपए एवं बालिकाओं को 1200 रूपए प्रदान किये जाएंगे. इसके अतिरिक्त राज्य के जो श्रमिक बच्चे 8वीं, 9वीं और 10वीं कक्षा में पढाई कर रहे है, उन्हें सरकार द्वारा प्रतिवर्ष 6000 रूपये की अतिरिक्त सहायता प्रदान की जाएगी | इस योजना के बारे में और अधिक जानकारी जैसे आवेदन प्रक्रिया, पात्रता, जरुरी दस्तावेज आदि की जानकारी प्राप्त करने के लिए लेख को पूरा जरूर पढ़ें.

ये भी पढ़ें: PM Svanidhi Scheme: बिना गारंटी लोन दे रही सरकार, समय पर पैसा चुकाने पर आपको मिलेगी सब्सिडी

Key Points Of UP Bal Shramik Vidya Yojana

योजना का नामUP Bal Shramik Vidya Yojana (उत्तर प्रदेश बाल श्रमिक विद्या योजना)
किसके द्वारा शुरू की गयीमुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ द्वारा
लाभार्थीश्रमिक परिवार के बालक एवं बालिका
योजना का उद्देश्यहर एक बच्चा शिक्षा ग्रहण कर सके
छात्रों को सहायता राशि Rs. 1000/- Per Month
छात्राओं को सहायता राशि
Rs. 1200/- Per Month
Official Portaluplabour.gov.in

मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना 2020 का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य गरीब एवं मजदूर वर्ग के बच्चों को उच्च शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करने एवं श्रमिकों के बच्चों को बाल श्रमिकों के रूप में काम करने से रोकने के लिए प्रतिमाह आर्थिक सहायता प्रदान करना है. इस यूपी मजदूर बाल शिक्षा योजना के तहत चयनित प्रत्येक बालक को 1000 रूपए प्रतिमाह एवं बालिका को 1200 रूपए प्रतिमाह आर्थिक सहायता प्रदान की जायेगी. एवं जिन श्रमिकों के बच्चे कक्षा 8वीं, 9वीं, एवं 10वीं में पढ़ रहें हैं उन्हें 6000 रूपए की अतिरिक्त वित्तीय सहायता प्रदान की जायेगी.

बाल श्रमिक विद्या योजना 2020 के लाभ

  • उत्तर प्रदेश बाल श्रमिक योजना का लाभ उत्तर प्रदेश के गरीब बच्चों को दिया जाएगा.
  • यूपी मजदूर बाल शिक्षा योजना के तहत बालकों को प्रतिमाह 1000 रूपए एवं बालिकाओं को 1200 रूपए प्रतिमाह दिए जाएंगे.
  • राज्य के जो श्रमिकों के बच्चे 8वीं, 9वीं और 10वीं कक्षा में पढ़ रहे हैं उन्हें 6000 रूपए की अतिरिक्त सहायता राशि दी जायेगी.
  • इस योजना के शुभारम्भ के रूप में 2000 से अधिक बच्चों को धन भेजा जाएगा.
  • यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना की शुरुआत बच्चों को बाल श्रमिक के रूप में काम करने से रोकने के लिए की गयी है.

ये उपयोग आर्टिकल भी पढ़ें: PM Shram Yogi Mandhan Yojana | मिलेंगे रू 3000 प्रतिमाह | कैसे होता है स्कीम का रजिस्‍ट्रेशन

उत्तर प्रदेश बाल श्रमिक विद्या योजना 2020 के दस्तावेज़ (पात्रता )

पात्रता

  • आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थाई निवासी होना चाहिए.
  • आवेदक गरीब या मजदूर वर्ग के परिवार से होना चाहिए.
  • उम्मीदवार की उम्र 8 से 18 वर्ष होनी चाहिए।

दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • वोटर पहचान पत्र
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक अकाउंट की जानकारी

UP बाल श्रमिक विद्या योजना आवेदन प्रक्रिया

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना 2020 की शुरुआत हाल ही में की गई है | अभी इस योजना में आवेदन की प्रक्रिया शुरू नहीं की गयी है. जैसे ही सरकार द्वारा आवेदन की प्रक्रिया शुरू की जाती है, हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से अवगत करा देंगे. आवेदन प्रक्रिया शुरू होने के बाद सभी इच्छुक उम्मीदवार UP Bal Shramik Vidya Yojana 2020 के तहत आवेदन कर सकते हैं और सरकार द्वारा दी जा रही वित्तीय सहायता प्राप्त कर सकते हैं.

FAQs

यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना क्या है?

इस योजना के अंतर्गत गरीब एवं श्रमिकों के बच्चो को मजदूरी करने से रोकना एवं उन्हें अच्छी शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रतिमाह वित्तीय सहायता प्रदान करना है.

यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना के तहत कितने रूपए की वित्तीय सहायता मिलती हैं?

इस योजना में चयनित प्रत्येक बालक को 1000 रूपए प्रतिमाह एवं बालिका को 1200 रूपए प्रतिमाह और कक्षा 8, 9, 10 के छात्रों को 6000 दिए जाएंगे।

बाल श्रमिक विद्या योजना के तहत लाभार्थी की उम्र क्या होनी चाहिए?

बाल श्रमिक विद्या योजना के तहत लाभार्थी की आयु 8-18 वर्ष के बीच होनी चाहिए।

यूपी बाल श्रमिक विद्या योजना में आवेदन करने के लिए किन-किन दस्तावेजों की आवश्यकता होगी?

यूपी मजदूर बाल शिक्षा योजना में आवेदन के लिए आधार कार्ड, पहचान पत्र, बैंक पासबुक की फोटो कॉपी, पासपोर्ट साइज फोटो, और मोबाइल नंबर की आवश्यकता होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *