राजीव गाँधी किसान न्याय योजना | ऑनलाइन आवेदन, रजिस्ट्रेशन | Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana Chhattisgarh

By | May 21, 2020

राजीव गाँधी किसान न्याय योजना | राजीव गाँधी किसान न्याय योजना आवेदन फॉर्म | Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana Application Form | Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojana Status

राजीव गाँधी किसान न्याय योजना: इस योजना की शुरुआत छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने की है. इस योजना का मुख्य उद्देश्य किसानों को उनकी फसलों का उचित मूल्य प्रदान कर उनकी आर्थिक व्यवस्था को सुद्रण करना है. किसानों की आय उनके द्वारा उपजी गयी फसलों और उनके विक्रय पर निर्भर करती है. कई बार किसानों को उनकी फसलों का सही मूल्य नहीं मिल पाता जिसके कारण किसानों की आर्थिक व्यवस्था काफी ख़राब हो जाती है, जिसके कारण किसान आत्महत्या तक कर लेते है. इस समस्या को देखते हुए छत्तीसगढ़ राज्य सरकार ने फसल उत्पादन को बढ़ावा देने, किसानों की आर्थिक व्यवस्था सुद्रण करने के लिए, कृषि से पलायन को रोकने के लिए राजीव गांधी किसान न्याय योजना शुरू की है.

राजीव गांधी किसान न्याय योजना 2020

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल पूर्व प्रधानमंत्री श्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि यानि 21 मई 2020 को इस योजना का विधिवत शुभआरम्भ करेंगे. फसल उत्पादन को बढ़ावा देने तथा किसानों को उनकी फसल का उचित मूल्य दिलाने के लिए “राजीव गाँधी किसान न्याय योजना” शुरू की गयी है. इस योजना के तहत प्रदेश के तक़रीबन 19 लाख किसानों को 5700 करोड़ रूपए की सहायता राशि चार किस्तों में प्रदान की जायेगी. इस लेख में हम राजीव गांधी किसान न्याय योजना से जुडी सभी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे आवेदन प्रक्रिया, आवश्यक दस्तावेज, पात्रता आदि मुहैया कराने जा रहे है. इसलिए इस लेख को अंत तक जरूर पढ़ें.

rajiv gandhi kisan nyay yojana

Chhattisgarh Shasan Labour Card 2020

राजीव गाँधी किसान न्याय योजना के उद्देश्य एवं लाभ

  • राजीव गांधी किसान न्याय योजना का मुख्य उद्देश्य फसल उत्पादन को बढ़ावा देना तथा किसानों को उनकी फसलों का सही मूल्य प्रदान करना.
  • इस योजना में धान की खेती करने वाले और गन्ना उत्पादन से जुड़े किसानों को लाभ मिलेगा.
  • किसान आत्मनिर्भर होकर कार्य कर सकेंगे.
  • किसानों की आर्थिक व्यवस्था सुद्रण होगी.
  • किसानों को फसल उत्पादन में प्रोत्साहित करने के लिए धान व मक्का लगाने वाले किसानों को अधिकतम 10 हजार रुपये प्रति एकड़ की दर से मदद की जाएगी

PM किसान योजना: ज्यादा किसानों को 6000 रुपये देने के लिए सरकार ने उठाया बड़ा कदम, जानिए क्या कदम उठाया है ?

राजीव गांधी किसान न्याय योजना में दी जाने वाली धनराशि

Rajiv Gandhi Kisan Nyay Yojna के तहत प्रदेश के तक़रीबन 19 लाख किसानों को 5700 करोड़ रूपए की प्रोत्साहन/सहायता राशि चार किस्तों में दी जायेगी. इस योजना की पहली क़िस्त 1500 करोड़ रूपए 19 लाख किसानों के खातों में 21 मई 2020 को हस्तांतरित की जायेगी.

धान एवं मक्के की खेती करने वाले किसानों को देय लाभ

  • इस योजना के अंतर्गत खरीफ 2019 से धान तथा मक्का लगाने वाले किसानों अधिकतम 10 हज़ार रूपए प्रति एकड़ की दर से मदद मिलेगी.
  • इस योजना में धान फसल के लिए 18 लाख 34 हजार 834 किसानों को प्रथम क़िस्त के रूप में 1500 करोड़ रूपए की राशि उनके बैंक खाते में हस्तांतरित की जायेगी.

गन्ने की खेती करने वाले किसानो को देय लाभ

  • गन्ने की फसल की पेराई वर्ष 2019-20 में सहकारी कारखानों द्वारा क्रय की गयी गन्ने की फसल पर एफआरपी मूल्य 261 रूपए प्रति क्विंटल और प्रोत्साहन राशि 93.75 रूपए प्रति क्विंटल अर्थात 355 रूपए प्रति क्विंटल के हिसाब से भुगतान किया जाएगा.
  • इसके अंतर्गत राज्य के 34 हजार 637 किसानों को 73 करोड़ 55 लाख रूपए चार किस्तों में दी जायेगी. जिसमे से पहली क़िस्त 18 करोड़ 43 लाख 21 मई को हस्तांतरित की जायेगी.
  • एक रिपोर्ट के मुताबिक़ वर्ष 2018-19 में सहकारी शक्कर कारखाने के माध्यम से खरीदी गयी गन्ने की मात्रा के आधार पर इस राजीव गाँधी किसान न्याय योजना के तहत 50 रूपए प्रति क्विंटल के हिसाब से प्रोत्साहन राशि दी जायगी. इसके तहत राज्य के 24 हजार 414 किसानों को 10 करोड़ 27 लाख रुपए दिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *