विद्यांजली योजना 2021 | Vidyanjali Yojana Details in Hindi

By | February 27, 2021

दोस्तों, जैसा की आप सभी जानते हैं की, हमारी वेबसाइट के माध्यम से हम आपको सरकारी योजनाओं के बारे में जानकारी प्रदान करते है ताकि पात्र लोग इन योजनाओं का लाभ उठा सके. इस लेख में हम आपको एक और सरकारी योजना के बारे में जानकारी प्रदान करने जा है इस योजना का विद्यांजली योजना है. आइये जानते हैं इस Vidyanjali Scheme के बारे में.

दोस्तों, जैसा की आप सभी जानते हैं की सरकारी विद्यालयों में शिक्षण व्यवस्था काफी दयनीय है. इस शिक्षण व्यवस्था में सुधार हेतु सरकार द्वारा समय-समय पर कई प्रयास किये जाते हैं. इसी संबंध में केंद्र सरकार ने सरकारी विद्यालयों में शिक्षण व्यवस्था को सुद्रण करने के लिए “विद्यांजली योजना” की शुरुआत की है. इस स्कीम के अंतर्गत ऐसे लोग जिनके पास पढ़ाने का अनुभव है, या ऐसे शिक्षित लोग जो सरकारी विद्यालय में पढ़ना चाहते है लेकिन सरकारी मानदंडों के अनुसार वह ऐसा नहीं कर पाते है तो वह लोग Vidyanjali Yojana के अंतर्गत अपनी इच्छा से किसी भी सरकारी विद्यालय में जाकर पढ़ा सकते हैं.

विद्यांजली योजना ऑनलाइन पंजीकरण (Vidyanjali Yojana 2020-21)

जैसा की आप सभी जानते हैं शिक्षा के क्षेत्र को बढ़ावा देने के लिए सरकार द्वारा बहुत सी योजनाएं शुरू कर रही हैं. इसी प्रकार शिक्षा के क्षेत्र में विकास हेतु केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय (HRD Dept.) ने विद्यांजली योजना की शुरुआत की है. इस योजना के अंतर्गत कोई भी इच्छुक व्यक्ति जिसके पास पढ़ाई का हुनर है एवं वह सरकार द्वारा निर्धारित पात्रता मानदंडों को पूरा करता है वह किसी भी सरकारी स्कूल में जाकर मुफ्त में विद्यार्थियों को पढ़ा सकते हैं.

इस योजना के अंतर्गत ऐसे प्राथमिक विद्यालय जहाँ पर शिक्षकों का अभाव है, एवं जिसके कारण बच्चों को पढ़ाई में काफी नुकसान हो रहा है, एवं देश में ऐसे कई क्षेत्र हैं जहाँ पर शिक्षा का स्तर बहुत ही कम है. ऐसे क्षेत्रों में इच्छुक व्यक्तियों को इस योजना के अंतर्गत आवेदन करके मुफ्त में पढ़ाने का मौका दिया जा रहा है.

Vidyanjali Yojana Details In Hindi

योजना का नाम विद्यांजली योजना
किसके द्वारा शुरू की गयी केंद्र सरकार द्वारा
उद्देश्य शिक्षा व्यवस्था को सुद्रण करना
लाभार्थी देश के विद्यार्थी

विद्यांजली योजना का उद्देश्य

इस योजना को लागू करने का मुख्य उद्देश्य भारत की शिक्षा व्यवस्था को सुद्रण करना है, एवं ऐसे क्षेत्र जहाँ शिक्षण एवं शिक्षा का स्तर काफी खराब है उन्हें सुधारना है. इसके अलावा ऐसे लोग जिन्होंने काफी अच्छी पढ़ाई कर रखी है, एवं जिनके पास पढ़ाने का हुनर है वह Vidyanjali Yojana के अंतर्गत किसी भी सरकारी स्कूल में जाकर बच्चों को पढ़ा सकते हैं. इस योजना के तहत देश के लगभग 21 राज्य कि 2200 से अधिक स्कूलों को जोड़ने का कार्य किया जाएगा.

विद्यांजली योजना से होने वाले फायदे:-

  • इस योजना के तहत देश में शिक्षा के क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा.
  • ऐसे पढ़े-लिखे लोग जो निःस्वार्थ भावना से सरकारी स्कूल के बच्चों को पढ़ाना चाहते हैं उन्हें पढ़ाने का मौका मिलेगा.
  • इस स्कीम के अंतर्गत सरकारी स्कूलों में शिक्षण व्यवस्था में सुधार होगा.
  • ऐसे क्षेत्र जहाँ का शिक्षा का स्तर काफी कम है वह शिक्षा को बढ़ावा दिया जाएगा.
  • इस योजना के अंतर्गत बच्चों को अच्छी शिक्षा मिलेगी जिससे बच्चे आत्मनिर्भर बनेंगे एवं उन्हें रोजगार के अवसर भी प्राप्त होंगे.

विद्यांजली योजना में शामिल होने हेतु आवश्यक पात्रता (Vidyanjali yojana eligibility Criteria)

इस योजना में शामिल होने के लाभार्थियों को निम्नलिखित पात्रता मानदंडों को पूरा करना होगा:-

  • अगर कोई ग्रहणी है तो वह कम से कम 12वीं उत्तीर्ण होनी चाहिए।
  • यदि कोई भारतीय प्रवासी है, तो वह कम से कम 12वीं पास होना चाहिए.
  • यदि कोई सेवानिवृत्त/पेशेवर व्यक्ति इस योजना से जुड़ना चाहता है तो वह स्नातक पास होना चाहिए।
  • यदि को NRI महिला / पुरुष इस योजना से जुड़ना चाहते हैं तो उनके पास OCI कार्ड होना आवश्यक है.

विद्यांजली योजना में आवेदन कैसे करें ?

इच्छुक उम्मीदवार ऊपरवर्णित निर्धारित पात्रता मानदंड को पूरा करता है, एवं वह अपनी सेवाएं देने के इच्छुक है तो वह निचे दिए गए तरीके को फॉलो कर इस योजना से जुड़ सकता है:-

  • MyGov.in पोर्टल या मोबाइल एप पर login करे. अगर आप इस पर रजिस्टर्ड नहीं हैं, तो पहले स्वयं को रजिस्टर करे.
  • आपके क्षेत्र में जिन विद्यालयों में स्वयंसेवी शिक्षकों की जरुरत होगी, वे इस पोर्टल पर दिखाई देंगे. आप इनमे से अपनी सुविधानुसार विद्यालय का चयन कर सकते हैं.

विद्यांजली योजना में चयन प्रक्रिया (Vidyanjali yojana registration process):

आपके द्वारा प्रस्तुत आवेदन को BEO (ब्लॉक एजुकेशन ऑफिसर) द्वारा जांच की जाएगा। यह अफसर उस क्षेत्र का होगा जिस क्षेत्र के विद्यालय में आपने पढ़ाने हेतु आवेदन किया है. BEO तथा शाला प्रधान द्वारा आवेदन पर विचार करने के बाद आपको एक स्वयंसेवी शिक्षा के रूप में विधालय में पढ़ाने की अनुमति मिल सकती है.

विद्यांजली योजना हेल्पलाइन नंबर:-

दोस्तों, यदि आप योजना के सम्बन्ध में और जानकारी चाहिए या आपको आवेदन करने में किसी भी प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है तो आपको हेल्पलाइन नंबर 9013151515 पर कॉल करके अपनी समस्या का समाधान पा सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *