कयर उद्यमी योजना 2022 : जानिए कैसे मिलेगा बिज़नेस के लिए 55 प्रतिशत तक लोन और 40 फीसदी सब्सिडी

By | April 24, 2022

जानिए, क्या है कयर उद्यमी योजना और इससे आपको बिज़नेस करने के लिए आसानी से कैसे मिलेगा 55 % तक लोन, 40% सब्सिडी

यदि आप अपने बिज़नेस को छोटे स्तर से शुरू करने की प्लानिंग कर रहे हैं, तो ऐसा करने से पहले आप मोदी सरकार कि इस योजना के बारे में ज़रूर जान लें। जी हां, मोदी सरकार आपके लिए एक ऐसी योजना लेकर आई है जिससे आपको 55 प्रतिशत तक लोन मिल सकता है। जिसके चलते आप आसानी से अपना छोटा सा बिज़नेस शुरू कर सकते हैं। इस योजना से आपको आपका सूक्ष्म व्यवसाय शुरू करने में काफी हद तक मदद मिलेगी।

coir udyami yojana
coir udyami yojana

कयर उद्यमी योजना क्या है

कयर उद्यमी योजना में के फायदे जानने से पहले हम ये जान लें कि आखिर कयर योजना है क्या, कहां से आया ये ‘कयर’ शब्द? तो हम आपको बता दें कि कयर शब्द जूट से लिया गया है। कयर बोर्ड 1953 में भारत सरकार द्वारा स्थापित किया गया था। यह कृषि आधारित एक ग्रामीण उद्योग है। इस  उद्योग से 7 लाख से ज्यादा लोगों को रोजगार मिला हुआ है। जिसमें 50 % से ज्यादा महिलाएं शामिल हैं। यह उद्योग केरल, तमिलनाडु, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश, तेलंगाना, ओडिशा जैसे नारियल उत्पादक राज्यों के ग्रामीण क्षेत्रों में आर्थिक विकास के लिए प्रमुख भूमिका निभाता है।

कयर उद्यमी योजना में लोन व सब्सिडी

कयर बोर्ड सूक्ष्म, मध्यम और लघु उद्योग मंत्रालय (MSME) के अंतर्गत कार्य करता है। इसके द्वारा विभिन्न परियोजनाओं के लिए 10 लाख रुपए तक की क्रेडिट लिंक्‍ड सब्सिडी प्रदान की जाती है। अगर आप अपना व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो इसके लिए जरूरी है कि आपके पास 5% राशि हो। जिसके बाद आप कयर उद्यमी योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने के बाद सरकार के द्वारा बैंक के माध्यम से आपको 55 प्रतिशत का लोन मिल जाएगा। इस लोन की अवधि सात साल तक होगी। यानि के सात साल के अंदर आपको यह लोन बैंक को चुकाना होगा। वहीं लोन के अलावा कयर बोर्ड द्वारा आपको 40 प्रतिशत तक सब्सिडी भी दी जाएगी।   

कयर उद्यमी योजना से मिलने वाले फायदे

वैसे तो आप कयर उद्यमी योजना के फ़ायदों के बारे में जान चुके हैं, कि इस योजना के माध्यम से आप आसानी से एक छोटा सा बिज़नेस शुरू कर सकते हैं। लेकिन इस योजना से कई सुविधाएँ मिलती हैं, जैसे…

  • सभी उद्यमियों का जो कारोबार है, उन्हें कयर के द्वारा एक साथ जोड़कर एक कलस्टर बनाया जाता है और उन्हें व्यापारिक सहायता प्राप्त होती है।
  • यदि कोई उद्यमी अपने प्रोडक्ट को व्यापार के लिए मेले में जाता है तो, सारा खर्च कयर बोर्ड द्वारा उठाया जाता है।
  • कयर बोर्ड किराए का शोरूम दिलाने में भी मदद करता है।
  • कयर बोर्ड क्लस्टर में काम कर रहे लोगों को वेतन प्रदान करता है।

कयर बोर्ड द्वारा इन वस्तुओं का निर्माण किया जाता है?

  • फर्श पर बिछाने वाली चटाई
  • दरवाजे का पायदान
  • ब्रश
  • गद्दे
  • फोम के गद्दे आदि

कौन कौन कर सकता है आवेदन?

कयर उद्यमी योजना में के लिए कोई भी व्यक्ति, कंपनी, स्‍व-सहायता समूहों, गैर सरकारी संगठनों, समाज, सहकारी समिति, संयुक्‍त समूह और चैरिटेबल ट्रस्ट वाले आवेदन कर सकते हैं।

आवेदन करने के लिए जरूरी दस्तावेज

कयर उद्यमी योजना का लाभ लेने के लिए आपके पास कुछ दस्तावेजों का होना जरूरी है, जैसे-

  • आप जहां व्यवसाय करना चाहते है उस संपत्ति औऱ जगह की फोटोकॉपी
  • कयर उद्योग का एक्‍सपीरियंस सर्टिफिकेट
  • कयर बोर्ड द्वारा आयोजित की गई ट्रेनिंग का प्रूफ
  • इनवॉइस के साथ खरीदी गई मशीनें
  • DIC द्वारा जारी किया गया औद्योगिक स्‍थापना सर्टिफिकेट
  • इंजीनियर द्वारा प्रदान किया गया कंस्ट्रक्शन की योजना का प्रमाण पत्र
  • जिस प्रोजेक्ट को बनाया जा रहा है उसका प्रोजेक्‍ट प्रोफाइल
  • जाति प्रमाण पत्र
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • पहचान पत्र (आधार कार्ड, पेन कार्ड, वोटर आईडी आदि)

आवेदन कैसे करें?

कयर उद्यमी योजना का लाभ लेने के लिए कयर बोर्ड ऑफिस, ज़िला उद्योग केंद्र, कयर परियोजना कार्यालय, पंचायत एवं नोडल एजेंसियों में जाकर आवेदन प्राप्‍त कर सकते हैं। अगर आप ऑनलाइन के माध्यम आवेदन करना चाहते हैं तो आप http://coirboard.gov.in/ के माध्यम से कर सकते हैं और आप इसे सीधे कयर बोर्ड फ़ील्ड ऑफिस या DIC के जरिए जमा कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.