अंतरजातीय विवाह योजना महाराष्ट्र 2020: ऑनलाइन आवेदन | पात्रता | जरूरी दस्तावेज

By | September 25, 2020

अंतरजातीय विवाह योजना: महाराष्ट्र सरकार द्वारा अंतरजातीय विवाह योजना यानि की इंटर कास्ट मैरिज को बढ़ावा देने के लिए यह योजना शुरू की गई है। इस योजना से जातिवाद में भेदभाव बहुत काफी हद तक कम किया जा सकता है, और इंटर कास्ट मैरिज के लाभार्थियों को सहायता राशि भी दी जाती है।

Inter Caste Marriage Yojana Maharashtra

बता दे महाराष्ट्र सरकार द्वारा इंटर कास्ट मैरिज के तहत जो लाभार्थी जोड़े अपना विवाह करते हैं, उनको सरकार द्वारा प्रोत्साहन राशि दी जाती है। आइये जानते हैं इंटर कास्ट मैरिज यानी अंतरजातीय विवाह योजना क्या है, और इसका उद्देश्य क्या है?

अंतरजातीय विवाह योजना (Inter-Cast Marriage)

इंटर कास्ट मैरिज यानी अंतरजातीय विवाह योजना के तहत यदि जनरल कैटेगरी के लड़के या लड़कियां यदि किसी अनुसूचित जाति के लड़की या लड़का से विवाह करता है, तो सरकार द्वारा इस योजना के तहत उन्हें लाभ दिया जाता है। इस योजना के तहत उन्हें प्रोत्साहन की राशि 3 लाख रूपये दी जाती है।

महाराष्ट्र राशन कार्ड सूची 2020महाराष्ट्र भूमि अभिलेख 7/12 खसरा पत्र, खतौनी, जमीन का नक्शा
महाराष्ट्र आपले सरकार पोर्टल ऑनलाइन पंजीकरणनानाजी देशमुख कृषि संजीवनी योजना 2020

पहले यह राशि ₹50,000 दी जाती थी, लेकिन अब इसे बढ़ा दिया गया है। इस योजना के तहत महाराष्ट्र के जोड़े जिन्होंने हिंदू विवाह अधिनियम 1955 या विशेष विवाह अधिनियम 1954 के तहत अपनी शादी रजिस्टर करवा रखी है, तो उन्हें इस योजना के तहत लाभ दिया जाएगा।

Inter-Caste Marriage Scheme 2020 Details

योजना का नामअंतरजातीय विवाह योजना महाराष्ट्र
किसके द्वारा शुरू की गयीमहाराष्ट्र सरकार
लाभार्थीराज्य के इंटर-कास्ट मैरिज करने वाले लाभार्थी
उद्देश्यजातिवाद के भेदभाव को ख़त्म करना
ऑफिसियल वेबसाइटhttps://sjsa.maharashtra.gov.in/

इंटर कास्ट मैरिज का प्रमुख उद्देश्य:-

बता दे, कि भारत देश में सबसे ज्यादा जातिवाद और धर्म के नाम पर कई सारे लड़ाई झगड़े होते हैं, और अधिकांश लोगों में जातिवाद को लेकर भेदभाव भी बहुत होता है, इसलिए सरकार ने इस भेदभाव को दूर करने के लिए इस तरह की योजना चालू की, जिससे कि जातिवाद को कम किया जा सके, और सभी श्रेणी के लोगों को समान अधिकार मिले। इस योजना के तहत इंटर कास्ट मैरिज करने वाले जोड़ों को राज्य सरकार द्वारा 3 लाख रूपये की प्रोत्साहन राशि दी जाती है।

अंतरजातीय विवाह योजना पात्रता क्या है?

इंटर कास्ट मैरिज के लिए आवेदनकर्ता महाराष्ट्र का स्थाई निवासी होना चाहिए।
इस योजना का लाभ उन्हें ही मिलेगा जिनकी आयु युवक की 21 वर्ष और युवती 18 वर्ष होनी चाहिए।
इस योजना का लाभ उन्हें ही मिलेगा जो विवाहिता जोड़े में से किसी एक अनुसूचित जाति या जनजाति से संबंध रखता हो।
इस योजना के तहत विवाहित जोड़ों को कोर्ट में शादी रजिस्टर करवानी होगी।

इंटर कास्ट मैरिज स्कीम के महत्वपूर्ण दस्तावेज क्या है?

आधार कार्ड, जाति प्रमाण पत्र, आयु प्रमाण पत्र
मोबाइल नंबर, पासपोर्ट साइज फोटो
बैंक की पासबुक,
कोर्ट द्वारा जारी किया गया मैरिज का प्रमाण।

अंतरजातीय विवाह योजना में आवेदन कैसे करें?

सबसे पहले आवेदनकर्ता को सामाजिक न्याय और विशेष सहायता विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

आधिकारिक वेबसाइट पर जाने के बाद आपके सामने एक होम पेज ओपन होगा।
होम पेज में आपको अंतरराष्ट्रीय विवाह योजना का एक ऑप्शन दिखाई देगा। इस ऑप्शन पर आपको क्लिक करना है।

जैसी आप इस ऑप्शन पर क्लिक करते हैं तो आपके सामने एक पेज खुलेगा।
इस पेज पर आपका एक रजिस्ट्रेशन फॉर्म होगा। इस रजिस्ट्रेशन फॉर्म में जो भी जानकारी आप से पूछी जाए, उसे सही-सही भरना है। जैसे कि नाम, विवाह की तारीख, आधार नंबर और अन्य जरूरी जानकारी।

सभी जानकारी सही-सही भरने के बाद आपको अपने सारे सभी जरूरी दस्तावेज को अपलोड करना है। सभी दस्तावेजों को अपलोड करने के बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना है। इस तरह आप अंतरराष्ट्रीय विवाह योजना के तहत अपना रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

मेरा सुझाब:-

ध्यान रहे, यह कोई आधिकारिक वेबसाइट नहीं है, और ना ही किसी मंत्रालय द्वारा इसका लेना देना है, इसलिए आप इस लेख का अध्ययन करने के बाद एक बार इस योजना से जुड़ी जानकारी के लिए अधिकारी वेबसाइट पर जाकर जानकारी हासिल कर ले। आपको यह आलेख कैसा लगा? आप हमें कमेंट अनुभाग के माध्यम से बता सकते हैं, और साथ ही आप अपने सवाल, सुझाव या राय भी हमें कमेंट अनुभाग के माध्यम से भेज सकते हैं। धन्यवाद!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *