BharatNet Project – भारत नेट Phase, Status, Updates 2021

By | March 17, 2021

BharatNet Project: भारत सरकार द्वारा गाँव एवं दूर-दराज के क्षेत्रों में नागरिकों एवं संस्थानों को सुलभ ब्रॉडबैंड सर्विस प्रदान करने के लिए भारत नेट परियोजना (BharatNet Project) की शुरुआत की है. इस परियोजना के जरिये ब्रॉडबैंड को ऑप्टिकल फाइबर के जरिये पहुंचाया जाएगा एवं जहाँ ऑप्टिकल फाइबर पहुंचाना संभव नहीं है वहां वायरलेस एवं सेटेलाइट नेटवर्क का इस्तेमाल किया जाएगा. विद्यालयों, स्वास्थय केंद्रों, एवं कौशल विकास केंद्रों में Bharat Net Project के माध्यम से निःशुल्क इंटरनेट सुविधा प्रदान की जायेगी. दोस्तों इस लेख में हम आपको भारत नेट परियोजना के बारे में सम्पूर्ण जानकारी से अवगत कराने जा रहें हैं. इसलिए लेख को अंत तक जरूर पढ़े.

BharatNet Project 2021

भारत नेट योजना का मुख्य उद्देश्य ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क ग्राम पंचायत स्तर तक पहुंचाना है. नेशनल ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क (NOFL) भारत नेट परियोजना (BharatNet Project) का लक्ष्य 2.50 ग्राम पंचायतों को जोड़ना है, एवं किफायती दाम में पर ब्रॉडबैंड की सुविधा उपलब्ध करानी है. इस परियोजना के अंतर्गत ब्रॉडबैंड की गति 50 MBPS से 100 MBPS होगी. इस पुरे प्रोजेक्ट को यूनिवर्सल सर्विस ऑब्लिगेशन फण्ड (USOF) द्वारा वित्त पोषित किया जा रहा है. जिसे देश के ग्रामीण और दूरदराज के क्षेत्रों में दूरसंचार सेवाओं में सुधार के लिए स्थापित किया गया था.

भारतनेट और इसकी सेवाएं

भारतनेट ब्लॉक से ग्राम पंचायत(जीपी) तक एक मध्य मील नेटवर्क है जो सेवा प्रदाताओं जैसे टीसीएसपी, आईएसपी, एमएसओ, एलसीओ एवं सरकारी एजेंसियों को अपनी सेवाओं का विस्तार करने के लिए कनेक्टिविटी प्रदान करता है |

1. बैंडविड्थ: यह ब्लॉक से ग्राम पंचायत तक जीपोन तकनीक का उपयोग करके पॉइंट टू पॉइंट एवं पॉइंट टू मल्टीपोइंट(पी 2 एमपी ) बेंड्विड्थ को इंगित करता है |

2. डार्क फाइबर: इंक्रेमेंटल केबल पर: यह फाइबर पॉइंट ऑफ इंटेर्कोनेक्ट (एफ़पीओआई) एवं ग्राम पंचायत के बीच बीबीएनएल द्वारा डाली गयी इंक्रेमेंटल केबल पर डार्क फाइबर प्रदान करता है |

Bharat Net Project Highlights

प्रोजेक्ट का नाम भारत नेट प्रोजेक्ट
किसके द्वारा शुरू की गयी भारत सरकार
विभाग Bharat Broadband Network Limited
कब लॉच की गयी वर्ष 2011
लाभार्थी भारत के नागरिक
ऑफिसियल वेबसाइट bbnl.nic.in

BharatNet Mission

  • ग्रामीण भारत को सस्ती कीमत पर उच्च गति डिजिटल कनेक्टिविटी प्रदान करना।
  • गैर-भेदभावपूर्ण तरीके से बी 2 बी सेवाएं (B2B services) प्रदान करना।
  • ग्रामीण क्षेत्रों में ब्रॉडबैंड सेवाओं के प्रसार को आसान बनाना ताकि डिजिटल इंडिया, (Digital India) जिसे भारत सरकार द्वारा भारत को डिजिटल रूप से सशक्त सोसायटी और ज्ञान अर्थव्यवस्था में परिवर्तित करने के विजन के साथ आरंभ किया गया था, के दृष्टिकोण के अनुरूप सामाजिक-आर्थिक विकास में तेजी लायी जा सके ।

भारत नेट परियोजना के लाभ एवं विशेषताएं

  • भारत नेट परियोजना का नाम पहले ओएफसी नेटवरङ्क (Optical Fiber Communication Network) था.
  • इस परियोजना के अंतर्गत गाँव में ऑप्टिकल फाइबर के जरिये हाईस्पीड, ब्रॉडबैंड, किफायती दरों पर उपलब्ध कराया जाएगा.
  • इसके तहत ब्रॉडबैंड की गति 50 MBPS से 100 MBPS होगी.
  • इस परियोजना का उद्देश्य ग्रामीण एवं दूर-दराज के क्षेत्रों में नागरिकों एवं संस्थानों को सुलभ ब्रॉड बैंड सेवाएं उपलब्ध कराना है.
  • इस परियोजना के तहत ब्रॉडबैंड को ऑप्टिकल फाइबर के जरिये पहुँचाया जाएगा. लेकिन जहाँ ऑप्टिकल फाइबर पहुँचाना संभव नहीं है, वहां वायरलेस एवं सैटेलाइट नेटवर्क का इस्तेमाल किया जाएग.
  • स्कूलों, स्वास्थ्य केंद्रों एवं कौशल विकास केंद्रों में इंटरनेट कनेक्शन नि:शुल्क प्रदान किये जाएंगे।
  • भारतनेट के पहले चरण में देश के कई राज्यों की एक लाख से अधिक ग्राम पंचायतों में ऑप्टिकल फाइबर कनेक्टिविटी उपलब्ध कराई गई है।
  • भारतनेट परियोजना के दूसरे चरण के तहत मार्च 2019 तक 2.5 लाख ग्राम पंचायतों में हाई स्पीड ब्रॉड बैंड का लक्ष्य है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *