स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना 2022: ऑनलाइन आवेदन, एप्लीकेशन फॉर्म पीडीऍफ़

By | August 13, 2022

देश की प्रत्येक राज्य सरकारों द्वारा श्रमिकों के सामाजिक एवं आर्थिक उत्थान के लिए समय-समय पर कई योजनाओं का क्रियान्वयन किया जाता है. इसी प्रकार उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा श्रमिकों को धार्मिक यात्रा की सुविधा प्रदान करने के उद्देश्य से स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना का शुभारम्भ किया गया है. इस योजना के अंतर्गत श्रमिकों को धार्मिक यात्रा हेतु आर्थिक सहायता प्रदान की जायेगी. दोस्तों इस लेख में हम आपको स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन योजना योजना से जुडी समस्त जानकारी जैसे: यह योजना क्या है? इसके उद्देश्य, लाभ, पात्रता, आवश्यक दस्तावेज, एवं आवेदक प्रक्रिया के बारे में विस्तृत जानकारी साझा करने जा रहें है. इसलिए Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana से जुडी समस्त जानकारी प्राप्त करने के लिए लेख को आखिर तक जरूर पढ़ें.

Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana 2022

इस योजना का लाभ उत्तर प्रदेश के वही श्रमिक उठा सकते हैं, जो श्रम विभाग कार्यालय में पंजीकृत है. इस योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश सरकार श्रमिकों को धार्मिक यात्रा के लिए 12000/- रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान करती है. इस योजना का लाभ 20,500 फैक्टरी में काम करने वाले 6.5 लाख कर्मचारी उठा सकते है। Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Scheme के माध्यम से सभी श्रमिकों को धार्मिक स्थलों की यात्रा करने का अवसर प्राप्त होगा।

swami vivekananda etihasik paryatan yatra yojana 2022

स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना के धार्मिक स्थल

इस योजना के अंतर्गत निम्नलिखित धार्मिक स्थलों को शामिल किया गया है।

  • अयोध्या
  • मथुरा
  • प्रयागराज
  • वाराणसी
  • हस्तिनापुर (मेरठ)
  • गोरखपुर का गोरखनाथ मंदिर
  • शाकुंभरी देवी तथा वैष्णो देवी मंदिर

किसान ऋण मोचन योजना उत्तर प्रदेश

Key Highlights of Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana 2022

योजना का नाम स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना
किसके द्वारा लांच की गयी उत्तर प्रदेश सरकार
उद्देश्य श्रमिकों को धार्मिक यात्रा के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करना
लाभार्थी उत्तर प्रदेश के नागरिक
आर्थिक सहायता 12000 रूपए
ऑफिसियल वेबसाइटयहाँ क्लिक करें
आवेदन फॉर्म पीडीऍफ़ यहाँ क्लिक करें

स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना का उद्देश्य

इस योजना के अंतर्गत ऐसे श्रमिक जो आर्थिक स्थिति के कारण धार्मिक यात्रा नहीं कर पाते उनके लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना को शुरू किया है. इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य श्रमिकों को धार्मिक स्थानों की यात्रा का अवसर प्रदान करना है. इस हेतु सरकार द्वारा उन्हें 12000/- रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जायेगी, ताकि वह धार्मिक यात्रा कर सके. Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra 2022 के माध्यम से कोई भी नागरिक धार्मिक यात्रा से वंचित नहीं रहेगा.

Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana लाभ तथा विशेषताएं

  • इस योजना को उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू किया गया है.
  • स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना के माध्यम से सरकार श्रमिकों को धार्मिक यात्रा के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करेगी.
  • इस योजना के अंतर्गत 12000 रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जायेगी.
  • उत्तर प्रदेश के वह सभी श्रमिक जो फैक्ट्रियों में काम करते हैं वह इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।
  • इस योजना के माध्यम से श्रमिकों को धार्मिक स्थानों की यात्रा करने का अवसर मिलेगा.
  • इसका लाभ तक़रीबन डेढ़ करोड़ मजदूरों को लाभ मिलेगा ।
  • वह सभी लोग जो राज्य के लेबर बोर्ड (Labor Card) के अंतर्गत पंजीकृत है वह इस योजना के अंतर्गत आवेदन कर सकते हैं और इस योजना का लाभ प्राप्त कर सकते हैं।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए इच्छुक उम्मीदवारों को आवेदन करना होगा.

स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना की पात्रता

  • आवेदक उत्तर प्रदेश राज्य का स्थाई निवासी होना चाहिए.
  • आवेदक श्रमिक होना चाहिए एवं श्रम विभाग (Labour Department) में पंजीकृत होना चाहिए.
  • आवेदक किसी फैक्ट्री में काम कर रहा होना चाहिए।

Shramik Card Status 2022

Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana हेतु आवश्यक दस्तावेज

  • आधार कार्ड
  • पहचान पत्र (ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट, मतदाता पहचान पत्र)
  • निवास प्रमाण-पत्र
  • लेबर कार्ड
  • राशन कार्ड
  • बैंक पासबुक की फोटो कॉपी
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया

इच्छुक उम्मीदवार जो स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना में आवेदन करना चाहते हैं, वह निचे दिए गए तरीके को ध्यानपूर्वक फॉलो करें:-

  • सर्वप्रथम आपको इस योजना का आवेदन फॉर्म प्राप्त करना होगा.
  • आवेदन फॉर्म आप श्रम विभाग कार्यालय जाकर प्राप्त कर सकते हो या ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर डाउनलोड कर सकते है.
  • हमने इस लेख में में आवेदन फॉर्म पीडीऍफ़ की लिंक प्रदान की है, लिंक पर क्लिक करके आप आवेदन फॉर्म डाउनलोड एवं प्रिंट कर सकते हो.
  • उसके बाद आवेदन फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी सही-सही करें.
  • फॉर्म के साथ सभी आवश्यक दस्तावेज संलग्न करें.
  • अब पूर्णरूप से भरे हुए आवेदन फॉर्म को श्रम विभाग कार्यालय में जाकर जमा करा दें.
  • आवेदन फॉर्म का उचित सत्यापन करने के बाद आपको धार्मिक यात्रा हेतु सहायता राशि प्रदान की जायेगी.

UP Vivah Anudan Yojana 2022: विवाह हेतु सरकार देगी 51000 रुपये की आर्थिक सहायता

प्रधानमंत्री श्रमिक सेतु पोर्टल 2022: ऑनलाइन आवेदन रजिस्ट्रेशन फॉर्म

उत्तरप्रदेश मजदुर कार्ड कैसे बनाए

FAQs (Frequetnly Asked Questions)

Q:1 स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना क्या है?
Ans: इस स्कीम के अंतर्गत उत्तर प्रदेश धार्मिक यात्रा करने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करती है।

Q:2 इस स्कीम के अंतर्गत सरकार कितने रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान करती है?
Ans: इस योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश सरकार धार्मिक यात्रा करने वाले श्रमिकों को 12000/- रूपए की आर्थिक सहायता प्रदान करती है।

Q:3 Swami Vivekananda Etihasik Paryatan Yatra Yojana में कौन-कौन आवेदन कर सकते हैं?
Ans: इस योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश के नागरिक जो फैक्ट्री में काम करते हैं, एवं जो श्रम विभाग के अंतर्गत पंजीकृत हैं, वह सभी सभी श्रमिक इस योजना में आवेदन कर सकते हैं।

Q:4 योजना का लाभ लेने के लिए किन-किन कागजों की आवश्यकता होगी?
Ans: इस स्कीम में आवेदन के लिए आधार कार्ड, लेबर कार्ड, राशन कार्ड, पासपोर्ट साइज फोटो, मोबाइल नंबर इत्यादि दस्तावेजों की आवश्यकता होगी।

Q:5 स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना में आवेदन कैसे करें?
Ans: इस योजना में आवेदन प्रक्रिया की पूरी जानकारी का विवरण लेख में साझा किया है। आप इस लेख के माध्यम से आवेदन फॉर्म डाउनलोड भी कर सकते हो।

Leave a Reply

Your email address will not be published.